बंगाल में इस साल दुर्गा पूजा के दौरान हो सकती है बारिश

 बंगाल में इस साल दुर्गा पूजा के दौरान हो सकती है बारिश
it-may-rain-during-durga-puja-in-bengal-this-year

कोलकाता, 8 अक्टूबर (आईएएनएस)। बंगाल में इस साल दुर्गा पूजा के दौरान बारिश होने के आसार है। अलीपुर मौसम विज्ञान विभाग ने भविष्यवाणी की है कि अंडमान के समुद्र में बनने पर वारट फॉल 13-15 अक्टूबर के बीच कोलकाता सहित दक्षिण बंगाल में बारिश के लिए अनुकूल स्थिति पैदा कर सकता है। पश्चिम बंगाल में चार दिवसीय दुर्गा पूजा 12 अक्टूबर से शुरू होकर 15 अक्टूबर को समाप्त होती है। बंगाल की खाड़ी में बना चक्रवात कमजोर हो चुका है, लेकिन मौसम विभाग ने कहा है कि रविवार से अंडमान के समुद्र में एक और निम्न दबाव का बनना तय है, जो धीरे-धीरे तीव्र होगा और उत्तर आंध्र प्रदेश और उड़ीसा की ओर बढ़ेगा। मौसम विभाग के मुताबिक, कम दबाव के कारण 13-15 अक्टूबर तक कोलकाता समेत दक्षिण बंगाल के कई जिलों में बारिश के लिए अनुकूल परिस्थितियां बनेंगी। अलीपुर मौसम विज्ञान कार्यालय ने कहा कि अगले कुछ दिनों तक दक्षिण बंगाल में आसमान में बादल छाए रहेंगे और हल्की से मध्यम बारिश होगी। दक्षिण बंगाल के जिलों में शनिवार से मंगलवार तक कम बारिश हुई है, लेकिन बुधवार से उत्तर और दक्षिण बंगाल में बारिश फिर बढ़ेगी। विभाग ने यह भी भविष्यवाणी की है कि शुक्रवार से कोलकाता में आसमान में आंशिक रूप से बादल छाए रहेंगे और गरज के साथ हल्की से मध्यम बारिश की संभावना है। दिन का तापमान सामान्य से दो से तीन डिग्री अधिक रहेगा। इस माहौल के कारण बेचैनी सूचकांक अधिक रहेगा। उमस की स्थिति बढ़ जाएगी और इससे असहज स्थिति पैदा होगी। अगले 24 घंटों में कोलकाता में अधिकतम तापमान 34 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम 27 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहेगा। पिछले 24 घंटों में कोलकाता में दिन का न्यूनतम तापमान सामान्य से दो डिग्री अधिक 27 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। हवा में अधिकतम नमी 97 फीसदी रही। कोलकाता में पिछले 24 घंटों में बारिश नहीं हुई है। मौसम विभाग ने यह भी भविष्यवाणी की है कि हालांकि पूरे देश से मानसून वापसी के संकेत दे रहा है, लेकिन पश्चिम बंगाल में अभी इसका अंत नहीं हुआ है। इस वर्ष गंगीय पश्चिम बंगाल के जिलों में इस मानसून में 31 प्रतिशत अधिक वर्षा हुई, शहर में सामान्य से लगभग दोगुनी (96 प्रतिशत) बारिश दर्ज की गई। --आईएएनएस एमएसबी/आरजेएस

अन्य खबरें

No stories found.