भाजपा शासित राज्यों में चल रही अंदरुनी लड़ाई : कांग्रेस

 भाजपा शासित राज्यों में चल रही अंदरुनी लड़ाई : कांग्रेस
internal-battle-going-on-in-bjp-ruled-states-congress

नई दिल्ली, 11 सितम्बर (आईएएनएस)। गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी के शनिवार को अपने पद से इस्तीफा देने के तुरंत बाद कांग्रेस ने कहा कि भाजपा शासित सभी राज्यों में आंतरिक दरार है, जो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह की विफलता को उजागर करती है। कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने ट्विटर पर कहा, आज दो चीजें आज सामने आई हैं। पहली यह कि सभी भाजपा शासित राज्यों में अंदरुनी लड़ाई है, चाहे वह गुजरात हो, उत्तर प्रदेश हो, मध्य प्रदेश हो, असम हो या हरियाणा हो। दूसरी चीज यह है कि भक्त मीडिया भाजपा में चल रही आपसी लड़ाई से बेखबर बना हुआ है, क्योंकि उसका काम सिर्फ विपक्षी शासित राज्यों पर ध्यान केंद्रित रहना है। उन्होंने कहा, यह मोदी और अमित शाह की विफलता को दिखाता है। उनके द्वारा बनाए गए मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने पांच वर्ष के बाद गुजरात और उसके लोगों को निराश किया। इसकी जिम्मेदारी मोदी जी की भी है। गांधी-पटेल की कर्मभूमि से कुटिल भाजपा एवं उसके नेतृत्व से मुक्त दिलाने का समय आ गया है। राज्य में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले रूपाणी ने एक आश्चर्यजनक कदम उठाते हुए शनिवार को गुजरात के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया। रूपाणी पिछले छह महीनों में तीन राज्यों- उत्तराखंड, कर्नाटक और गुजरात में बदले जाने वाले चौथे भाजपा के सीएम बन चुके हैं। रूपाणी ने संवाददाताओं से कहा, मैं मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे रहा हूं। मुझे पांच साल काम करने का मौका देने के लिए मैं पीएम मोदी और पार्टी को धन्यवाद देता हूं। भगवा पार्टी ने मार्च में उत्तराखंड के तत्कालीन मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की जगह लोकसभा सदस्य तीरथ सिंह रावत को मुख्यमंत्री बना दिया था। जुलाई में मुख्यमंत्री बनाए जाने के चार महीने बाद ही तीरथ सिंह रावत को भी हटा दिया गया और दो बार के विधायक पुष्कर सिंह धामी को मुख्यमंत्री की जिम्मेदारी दी गई। उत्तराखंड के बाद भाजपा ने कर्नाटक में बी. एस. येदियुरप्पा को हटाकर बी. एस. बोम्मई को मुख्यमंत्री की कमान सौंप दी। वहीं उत्तराखंड में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को एक नया चेहरा लाने के लिए बदल दिया गया था, लेकिन तीरथ सिंह रावत को राज्य के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेने के छह महीने के भीतर राज्य विधानसभा के लिए निर्वाचित होने में विफलता के कारण हटा दिया गया था। सूत्रों ने कहा कि भगवा पार्टी रविवार तक रूपाणी को बदलने की घोषणा कर सकती है। सबसे अधिक संभावना है, उनकी जगह उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल हो सकते हैं। --आईएएनएस एकेके/एएनएम

अन्य खबरें

No stories found.