instructions-to-complete-udhampur-srinagar-baramulla-rail-link-project-in-mission-mode
instructions-to-complete-udhampur-srinagar-baramulla-rail-link-project-in-mission-mode
देश

उधमपुर-श्रीनगर-बारामूला रेल लिंक परियोजना को मिशन मोड में पूरा करने का निर्देश

news

यह दुनिया का सबसे ऊंचा रेल पुल होगा नई दिल्ली, 13 फरवरी (हिस)। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने शनिवार को उधमपुर-श्रीनगर-बारामूला रेल लिंक परियोजना के शेष कार्य को मिशन मोड में पूरा करने का निर्देश दिया। कश्मीर घाटी को देश के शेष भागों से जोड़ने वाली 272 किलोमीटर लंबी उधमपुर-श्रीनगर-बारामूला रेल लिंक (यूएसबीआरएल) परियोजना की प्रगति की रेल मंत्री आज वर्चुअल माध्यम से समीक्षा कर रहे थे। देश के बाकी हिस्सों से कश्मीर क्षेत्र को हर मौसम में जोड़े रखने वाले माध्यम पर फोकस किया। कुल 272 में से 161 किमी का कार्य पूरा कश्मीर घाटी को देश के शेष भागों से जोड़ने वाली 272 किलोमीटर लंबी उधमपुर-बारामूला रेल लाइन देश की महत्वाकांक्षी राष्ट्रीय परियोजना है। परियोजना के 272 किलोमीटर में से 161 किलोमीटर का कार्य पूरा हो गया है । उधमपुर-कटरा 25 किलोमीटर (जुलाई 2014 में प्रारंभ), क़ाज़ीगुंड-बारामूला 118 किलोमीटर (अक्टूबर, 2009 में प्रारंभ) और बनिहाल-क़ाज़ीगुंड 18 किलोमीटर (जून 2013 में प्रारंभ) का कार्य पूरा हो गया है और इन्हें चालू कर दिया गया है । शेष 111 किमी लंबे कटड़ा-बनिहाल खंड का कार्य प्रगति पर शेष 111 किलोमीटर लंबे कटड़ा-बनिहाल खंड का कार्य प्रगति पर है । इस खंड पर 111 में से 97 किलोमीटर अर्थात 87 प्रतिशत कार्य मुख्य रूप से सुरंगों का है । इस खंड पर 27 मुख्य सुरंगें हैं जिनकी लंबाई लगभग 97.6 किलोमीटर और 8 एस्केप सुरंगें हैं जिनकी लंबाई 66.4 किलोमीटर है । इस प्रकार, कटरा-बनिहाल खंड पर कुल मिलाकर164 किलोमीटर सुरंगों का निर्माण कार्य किया जा रहा है । वर्तमान में 136 किलोमीटर मुख्य सुरंग मार्ग, जिसमें मुख्य सुरंग के 97 किलोमीटर में से 83 किलोमीटर और 66.4 किलोमीटर के सुरंग मार्ग में से 55 किलोमीटर का कार्य पूरा हो चुका है । कुल 37 पुलों में से 26 बड़े पुल और 11 छोटे पुल हैं । वर्तमान में 12 बड़े पुलों और 10 छोटे पुलों का कार्य पूरा हो चुका है और शेष पुलों का कार्य तीव्र गति पर है। इन पुलों में चिनाब पुल, नदी की तलहटी से जिसकी कुल लंबाई 1315 मीटर, आर्क स्पैन 467 मीटर और ऊंचाई 359 मीटर है, का कार्य भी शामिल है । यह दुनिया का सबसे ऊंचा रेल पुल होगा । चिनाब पुल के आर्क को बनाने का कार्य प्रगति पर है । इसके 550 मीटर में से 516 मीटर का कार्य पूरा हो चुका है और शेष 34 मीटर का कार्य ही बाकी है । इसे मार्च 2021 तक पूरा कर लिए जाने की उम्मीद है । भारतीय रेल के पहले केबल स्टे्ड पुल का निर्माण भी अंजी खड्ड पर किया जा रहा है। इसके 193 मीटर के मुख्य पायलन के कार्य में से 120 मीटर का कार्य पूरा हो गया है । अंजी पुल के सहायक पुल के हिस्से का कार्य पूरा हो चुका है। अन्य बड़े पुलों में पुल संख्या 39 और 43 का कार्य प्रगति पर है । इन पुलों के निर्माण का क्रमश: 191 मीटर और 141 मीटर का कार्य पूरा हो चुका है । चिनाब पुल पर शेष 34 मीटर आर्क का काम मार्च तक होगा पूरा चिनाब पुल – आर्क सैगमेंट को लगाने का कार्य : 373 एमटी का कार्य दिसम्बर 2020 में और 380 एमटी का कार्य 21 जनवरी, 2021 तक किया गया । 3262 एमटी आर्क लांचिग का कार्य कोरोना लॉकडाउन के बाद किया गया। आर्क लांचिग के 550 मीटर कार्य में से लगभग 516 मीटर का कार्य पूरा कर लिया गया है और शेष 34 मीटर का कार्य ही बाकी है । इसे मार्च 2021 तक पूरा कर लिये जाने की उम्मीद है । हिन्दुस्थान समाचार/सुशील-hindusthansamachar.in