indian-railways-set-a-record-for-scrap-sales-in-coronakal-generating-revenue-of-4573-crores
indian-railways-set-a-record-for-scrap-sales-in-coronakal-generating-revenue-of-4573-crores
देश

कोरोनाकाल में भारतीय रेलवे ने स्क्रैप बिक्री का बनाया रिकॉर्ड, 4573 करोड़ का राजस्व जुटाया

news

नई दिल्ली, 07 अप्रैल (हि.स.)। भारतीय रेलवे ने वित्तीय वर्ष 2020-21 में स्क्रैप बिक्री से 4573 करोड़ रुपये का राजस्व जुटाकर कोरोनाकाल में स्क्रैप बिक्री का नया रिकॉर्ड बनाया है। यह 2019-20 के 4333 करोड़ रुपये के मुकाबले 5.5 प्रतिशत अधिक है। रेल मंत्रालय ने बुधवार को कहा कि रेलवे के इतिहास में स्क्रैप निस्तारण का यह सर्वकालिक रिकार्ड है। पिछला सर्वश्रेष्ठ 2009-10 में 4409 करोड़ रुपये था। भारतीय रेलवे ई-नीलामी के माध्यम से स्क्रैप सामग्री और बिक्री को जुटाकर संसाधनों का उपयोग करने के लिए सभी प्रयास करता है। गैर-परिवर्तनीय व स्क्रैप रेलवे सामग्री का उत्पादन और बिक्री एक सतत प्रक्रिया है और जोनल रेलवे और रेलवे बोर्ड उच्चतम स्तर पर इसकी निगरानी करते हैं। रेलवे प्रशासन ई-नीलामी के माध्यम से स्क्रैप सामग्री और बिक्री को जुटाने के लिए सभी प्रयास करता है। निर्माण परियोजनाओं में, गेज परिवर्तन परियोजनाओं में सामान्य रूप से स्क्रैप उत्पन्न होता है। स्क्रैप के लिए पेश की जा रही स्थायी तरीके की वस्तुओं को ट्रैक पर पुन: उपयोग करने योग्य नहीं है। इनका निपटारा रेलवे के प्रावधानों के अनुसार किया जाता है। हिन्दुस्थान समाचार/सुशील