India will not only export its worries but will also export vaccines to other nations: Rajnath
India will not only export its worries but will also export vaccines to other nations: Rajnath
देश

भारत सिर्फ अपनी चिन्ता करने वाला देश नहीं, दूसरे राष्ट्रों को भी वैक्सीन करेंगे निर्यात: राजनाथ

news

लखनऊ, 16 जनवरी (हि.स.)। प्रदेश में कोरोना के खिलाफ शनिवार को टीकाकरण अभियान का शुभारम्भ होने पर अपने संसदीय क्षेत्र आए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने इसका निरीक्षण किया। उन्होंने कहा कि भारत सिर्फ अपनी चिन्ता करने वाला देश नहीं है। हम दूसरे राष्ट्रों को भी वैक्सीन निर्यात करेंगे। रक्षा मंत्री ने किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (केजीएमयू) और बलराम हॉस्पिटल में चल रहे टीकाकरण अभियान को मौके पर पहुंच कर देखा और इस अभियान में शामिल फ्रंटलाइन वर्कर्स का अभिनंदन किया। उन्होंने लोगों को संक्रमण से बचाने के लिए कोरोना योद्धाओं के कार्यों की सराहना भी की। इस दौरान उन्होंने कहा कि आज वैक्सीनेशन की शुरूआत पूरे देश में हुई है। जिन लोगों का वैक्सीनेशन हुआ है, उसकी सफलता को देखकर स्वाभाविक है कि लोग वैक्सीनेशन कराएंगे। हमारे देश के वैज्ञानिक चार और वैक्सीन लगभग तैयार कर चुके हैं। रक्षा मंत्री ने कहा कि दुनिया के दूसरे देशों को भी जहां जरूरत होगी, हम वैक्सीन का निर्यात भी करेंगे। भारत सिर्फ अपनी चिन्ता करने वाला देश नहीं है। पूरा देश एक परिवार है 'वसुधैव कुटुंबकम' का संदेश हमारे देश ने दिया है इससे पहले राजनाथ सिंह ने लखनऊ में मध्य कमान के नए सेना अस्पताल के भूमि पूजन समारोह में भी कहा कि अगर चिकित्सक, पैरामेडिकल स्टाफ नहीं होता, जिन्हें हम बराबर कोरोना योद्धा के रूप में जानते हैं और इन्होंने जोखिम न उठाया होता तो यह सारा इंफ्रास्ट्रक्चर धरा का धरा रह जाता। हम इस चुनौती का मुकाबला नहीं कर सकते थे। उन्होंने कहा कि इसीलिए शायद हम चिकित्सक को इस धरती पर दूसरा भगवान मानते हैं। रक्षा मंत्री ने कहा कि हम लोगों के लिए खुशी की बात है कि वैक्सीनेशन का सिलसिला आज से शुरू हो गया है। हिन्दुस्थान समाचार/संजय-hindusthansamachar.in