Smart India Hackathon 2020: शिक्षा व्यवस्था के लिए टेक्नोलॉजी अहम, PM e-Vidya की हुई शुरुआत
Smart India Hackathon 2020: शिक्षा व्यवस्था के लिए टेक्नोलॉजी अहम, PM e-Vidya की हुई शुरुआत
देश

Smart India Hackathon 2020: शिक्षा व्यवस्था के लिए टेक्नोलॉजी अहम, PM e-Vidya की हुई शुरुआत

news

पीएम नरेन्द्र मोदी ने कल यानि 1 अगस्त को वर्चुअल Smart India Hackathon को संबोधित किया। इस स्मार्ट इंडिया हेकाथॉन में नई शिक्षा नीति और स्मार्ट हो रही शिक्षा व्यवस्था पर कई बातें प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कही। भारत में किस तरह ऑनलाइन शिक्षा और डिजिटल लर्निंग के जरिए एजुकेशन सिस्टम में एक नई क्रांति आई है। इसके बारे में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और केन्द्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने बताया। केन्द्र सरकार के डिजिटल इंडिया मिशन की वजह से ही इस कोरोना काल में ऑनलाइन शिक्षा दी जा रही है। केन्द्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा कि स्मार्ट इंडिया हैकाथॉन छात्रों को एक योद्धा की तरह खड़े होने का विश्वास पैदा कर रहा है, जिसकी वजह से वो जिस रास्ते पर चलना चाहते हैं चल सके। साथ ही उन्होंने टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करके PM e-Vidya ऑनलाइन क्लासेज का भी जिक्र किया और बताया कि डिजिटाइजेशन की वजह से PM e-Vidya ऑनलाइन क्लासेज की शुरुआत हो चुकी है। उन्होंने आगे बताया कि नए नेशनल एजुकेशन पॉलिसी में इनोवेशन और टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल कर रहे हैं। इसके लिए उन्होंने नेशनल एजुकेशन टेक्नोलॉजी फोरम की भी शुरुआत की है। साथ ही उन्होंने आगे कहा कि इस स्मार्ट इंडिया हेकाथॉन (SIH) से जो भी बातें निकल कर सामने आएगी उसे जमीनी स्तर पर लागू किया जाएगा। शिक्षा मंत्री ने स्मार्ट इंडिया हेकाथॉन में शामिल हुए सभी पार्टिशिपेंट्स का धन्यवाद ज्ञापन किया और कहा कि लोगों का आप पर विश्वास है और जो भी आइडियाज इस स्मार्ट इंडिया हैकाथॉन के जरिए निकल कर सामने आए हैं उसे जमीनी स्तर पर लागू किया जाएगा। स्मार्ट इंडिया हेकाथॉन के ग्रांड फिनाले के मौके पर बोलते हुए पीएम मोदी ने मुख्य तौर पर नए एजुकेशन पॉलिसी के अलावा लर्निंग, रिसर्च (अनुसंधान) और इनोवेशन के बारे में बात की। उन्होंने कहा कि 21वीं सदी ज्ञान का युग है। नए शिक्षा नीति के बारे में बोलते हुए कहा कि इन नई पॉलिसी की वजह से छात्रों के स्कूल, कॉलेज और यूनिवर्सिटी का एक्सपीरियंस बदल जाएगा। खास तौर पर टेक्नोलॉजी और इनोवेशन की वजह से नई शिक्षा नीति को एक वृहत दृष्टि पटल मिलेगा।-newsindialive.in