प्रसार भारती डीडी के अंतरराष्ट्रीय संस्करण तैयारी में,  ईओआई किए आमंत्रित
in-preparation-for-the-international-edition-of-prasar-bharati-dd-eoi-invited

प्रसार भारती डीडी के अंतरराष्ट्रीय संस्करण तैयारी में, ईओआई किए आमंत्रित

नई दिल्ली, 22 मई (हि.स.)। प्रसार भारती एक अंतरराष्ट्रीय टेलीविजन चैनल शुरू करने पर विचार कर रही है और इस संबंध में विस्तृत परियोजना तैयार करने से जुड़ी परामर्श सेवा के लिए ईओआई (एक्सप्रेशन ऑफ इंटरेस्ट) आमंत्रित किए हैं। प्रसारभारती के अधिकारियों के अनुसार वैश्विक स्तर पर भारतीय परिप्रेक्ष्य को सही ढंग से पेश करने के लिए चैनल को लॉन्च किया जाएगा। प्रसार भारती ने 15 मई को अपने आधिकारिक ट्वीटर हैंडल से ईओआई का मसौदा जारी किया है। परामर्श सेवा प्रदाता को इसपर अपनी टिप्पणियों के लिए 28 मई तक का समय दिया है। इसके अनुसार, “दूरदर्शन के लिए वैश्विक उपस्थिति बनाने और भारत के लिए एक अंतरराष्ट्रीय आवाज स्थापित करने के रणनीतिक उद्देश्य को देखते हुए डीडी इंटरनेशनल की स्थापना की परिकल्पना की गई है। इसलिए, इस तरह की परियोजनाओं पर अंतरराष्ट्रीय प्रसारकों व मीडिया घरानों को सलाह देने का अनुभव रखने वाले प्रतिष्ठित वैश्विक सलाहकारों से विस्तृत परियोजना रिपोर्ट (डीपीआर) के लिए यह ईओआई आमंत्रित किया जा रहा है।” इसमें डीडी इंटरनेश्लन को स्थापित करने के पांच उद्देश्य बताये गए हैं। इनके अनुसार डीडी इंटरनेश्लन का उद्देश्य वैश्विक और घरेलू महत्व के समसामयिक मुद्दों पर विश्व स्तर पर भारत के दृष्टिकोण को पेश करना होगा। चैनल वैश्विक दर्शकों को भारत की कहानी बतायेगा और विश्वसनीय, संपूर्ण और सटीक वैश्विक समाचार सेवा के माध्यम से भारत का आधिकारिक वैश्विक मीडिया स्रोत बनेगा। साथ ही इसका उद्देश्य भू-राजनीति और वैश्विक अर्थव्यवस्था के दृष्टिकोण से दुनिया भर में प्रमुख हितधारकों के भीतर भारत के रणनीतिक हस्तक्षेप के लिए एक माइंडशेयर बनना होगा। इसके अलावा चैनल ग्लोबल मीडिया प्रोफेशनल्स के लिए टैलेंट हब का काम करेगा। चैनल को प्रसार भारती मंडल से मंजूरी मिल गई है और दूरदर्शन ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर चैनल बनाने के लिए सलाहकारों को नियुक्त करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। इसी के चलते बोर्ड ने वैश्विक निविदाएं आमंत्रित की हैं। उल्लेखनीय है कि मोदी सरकार अपने पहले कार्यकाल से ही संयुक्त राज्य अमेरिका के सीएनएन और ब्रिटेन के बीबीसी की तर्ज पर भारत की अंतरराष्ट्रीय समाचार प्रसारण सेवा शुरु करने पर विचार कर रही है। पिछले कुछ समय से भारत विश्व स्तर पर मजबूत हुआ है वहीं दूसरी ओर अंतरराष्ट्रीय मीडिया भारत के खिलाफ पक्षपाती रवैया अपना रहा है। दूरदर्शन वर्तमान में हिंदी, अंग्रेजी और अन्य भारतीय भाषाओं में कुल 91 चैनल चला रहा है। प्रसारभारती का लक्ष्य अब भारत की वास्तविकता और भूमिका को अन्य देशों में अपनी भाषा में प्रस्तुत करना है। हिन्दुस्थान समाचार/अनूप

No stories found.