in-nizamabad-an-infected-doctor-treated-1000-patients
in-nizamabad-an-infected-doctor-treated-1000-patients
देश

निजामाबाद में संक्रमित डॉक्टर ने की 1,000 रोगियों की चिकित्सा

news

स्वास्थ्य विभाग के छापे के दाैरान हुआ रहस्योद्घाटन निजामाबाद (तेलंगाना), 06 अप्रैल (हि.स.)। निजामाबाद के एक अस्पताल मालिक डाक्टर ने स्वयं के कोरोना पॉजिटिव होने के बाबजूद कई दिनों तक मरीजों का इलाज किया और यह राज उन मरीजों से छुपाए रखा। इस बीच किसी तरह यह जानकारी स्वास्थ्य विभाग को मिली तो विभागीय अधिकारियों ने अस्पताल पर छापेमारी की लेकिन डाक्टर फरार हो गया। निजामाबाद के निश्कल न्यूरो मल्टीस्पेशलिटी हॉस्पिटल के मालिक डॉ. निश्कल प्रभु गत सप्ताह कोरोना जांच करवाने पर पॉजिटिव पाये गये थे, इसके बावजूद वे अपने अस्पताल में रोगियों की चिकित्सा करते रहे और वे क्वारंटाइन में नहीं गये।सूत्रों के अनुसार इस दौरान उन्होंने लगभग 1,000 रोगियों की जाँच की और इन सभी के जीवन को खतरे में डाल दिया। जब इसकी जानकारी निजामाबाद जिला चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. सुदर्शनम को मिली, तब स्वास्थ्य अधिकारियों ने अस्पताल पर छापा मारा। डॉ. निश्कल प्रभु अस्पताल से फरार हो गये और अपना मोबाइल फोन भी बंद कर दिया। अधिकारियों ने अस्पताल में कार्यरत कर्मचारियों की कोरोना जाँच की। इनमें से 10 कर्मचारी भी पॉजिटिव पाए गए। अधिकारियों ने अस्पताल को सील करने के आदेश दिए और मामले की जाँच आरंभ कर दी है। निजामाबाद जिला चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. सुदर्शनम ने मामले को गंभीरता से लेते हुए आज इस हॉस्पिटल में भर्ती मरीजों को दूसरे अन्य हॉस्पिटल में भिजवाया है। स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. सुदर्शनम ने इस हॉस्पिटल के मालिक डॉ निश्कल प्रभु को दुबारा करोना परीक्षण करवाने के आदेश दिए और अगले आदेश तक हॉस्पिटल को बंद रखने के निर्देश दिए हैं। हिन्दुस्थान समाचार/नागराज