नई शिक्षा नीति के तहत सीटीईटी परीक्षाओं में किए जा रहे हैं महत्वपूर्ण बदलाव

 नई शिक्षा नीति के तहत सीटीईटी परीक्षाओं में किए जा रहे हैं महत्वपूर्ण बदलाव
important-changes-are-being-made-in-ctet-examinations-under-the-new-education-policy

नई दिल्ली, 19 अगस्त (आईएएनएस)। सीबीएसई द्वारा आयोजित किए जाने वाली केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा (सीटीईटी) में इस बार महत्वपूर्ण बदलाव किया जाएगा। सीटीईटी की डिग्री जीवन भर के लिए मान्य कर दी गई है, हालांकि सीबीएसई अब इस परीक्षा के पैटर्न में बदलाव करेगा। साथ ही परीक्षा में पूछे जाने वाले प्रश्नों की नीति में भी बदलाव होगा। यह बदलाव नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति के अनुसार होंगे। सीबीएसई द्वारा दी गई आधिकारिक जानकारी के अनुसार, इस साल सीटीईटी ऑनलाइन मोड में आयोजित किया जाएगा। परीक्षा को लेकर यह एक बड़ा नीतिगत फैसला है। वहीं प्रश्नों की बात की जाए तो इस बार की परीक्षा में तथ्यात्मक ज्ञान के प्रश्न कम और वैचारिक समझ, समस्या समाधान एवं ता*++++++++++++++++++++++++++++र्*क आकलन करने वाले प्रश्न अधिक पूछे जाएंगे। परीक्षा मे किए गए इन सुधारो के प्रति उम्मीदवारों को जागरुक करने के लिए देशभर में विभिन्न स्थानों पर उम्मीदवारों हेतू फैसिलिटेशन सेंटर भी तैयार किए जाएंगे। इन केंद्रों पर उम्मीदवार निशुल्क ऑनलाइन मॉक टेस्ट की सुविधा प्राप्त कर सकते हैं। कोरोना संक्रमण के कारण सीबीएसई को बीते वर्ष की सीटीईटी परीक्षा इस वर्ष 31 जनवरी को आयोजित करवानी पड़ी थी। इस परीक्षा के लिए कोरोना नियमों के तहत सभी तैयारी की गई थी। सीटीईटी परीक्षा पहले देश भर के 112 शहरों में होनी थी, लेकिन शिक्षा मंत्रालय द्वारा किए गए नए इंतजामों के तहत यह परीक्षा देशभर के 135 शहरों में आयोजित करवाई गई। इस वर्ष भी अभी यह परीक्षाएं करवाई जानी बाकी है। सीबीएसई के मुताबिक जल्द ही परीक्षाओं का कार्यक्रम घोषित कर दिया जाएगा। इस वर्ष 31 जनवरी को आयोजित की गई यह परीक्षा पहले पिछले वर्ष जुलाई में होनी थी। अभ्यर्थियों की सुविधा के लिए 23 और शहरों में नए सीटीईटी परीक्षा केंद्र बनाए गए थे। कोरोना संकट के कारण सीटीईटी परीक्षा लगातार निलंबित की जा रही थी। --आईएएनएस जीसीबी/एएनएम

अन्य खबरें

No stories found.