his-government-like-the-prime-minister-is-not-positive-about-corona-kishori-pednekar
his-government-like-the-prime-minister-is-not-positive-about-corona-kishori-pednekar
देश

कोरोना को लेकर प्रधानमंत्री की तरह उनकी सरकार सकारात्मक नहीं: किशोरी पेडणेकर

news

- कोरोना टीका उपलब्ध न होने से मुंबई के 26 टीकाकरण केंद्र बंद होने के कगार पर मुंबई, 09 अप्रैल (हि.स.)। मुंबई की महापौर किशोरी पेडणेकर ने कहा कि कोरोना वायरसरोधी टीका उपलब्ध न होने की वजह से 26 टीकाकरण केंद्र बंद हो गए हैं। मुंबई में सिर्फ आज तक का कोरोना टीका उपलब्ध है। महापौर ने कहा कि कोरोना को लेकर प्रधानमंत्री सकारात्मक हैं लेकिन उनकी सरकार सकारात्मक नहीं है। इसी वजह से मुंबई में कोरोना वायरस रोधी टीका मांग के मुताबिक नहीं मिल रहा है। महापौर ने शुक्रवार को पत्रकारों को बताया कि मुंबई में टीका उपलब्ध न होने से 26 टीकाकरण केंद्रों पर कोरोना टीकाकरण बंद हो गया है। हमारे पास बहुत ही कम टीका उपलब्ध है। मीडिया के हवाले से पता चला है कि आज शाम तक 76 हजार से एक लाख टीका की डोज मुंबई पहुंचने वाली है। यह भी बहुत कम है और कितने दिन तक चलेगा। महापौर ने कहा कि जिन लोगों को पहली डोज दी गई है, उन्हें तय समय पर दूसरी डोज देना आवश्यक है। कोरोना टीका के लिए लोगों की लंबी कतारें लग रही हैं, मरीज बढ़ रहे हैं। इसलिए लोग सुरक्षित रहने के लिए कोरोना का टीका लगवाना चाहते हैं। महापौर ने बताया कि इस बाबत जब भी मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से प्रधानमंत्री की बात होती है तो प्रधानमंत्री सकारात्मक रहते हैं लेकिन इसके बाद भी केंद्र सरकार की ओर से मुंबई और महाराष्ट्र के साथ भेदभाव किया जा रहा है। महापौर ने कहा कि कोरोना से लोगों की जान पर खतरा बढ़ता जा रहा है। इस पर राजनीति नहीं की जानी चाहिए लेकिन इस पर ध्यान नहीं दिया जा रहा है। महापौर ने कहा कि उनकी चिंता लोगों की जान बचाने की है, इसलिए जनसंख्या के आधार पर कोरोना वायरस टीका दिया जाए, तभी इसका लाभ सबको मिल सकेगा। महापौर ने कहा कि उन्होंने हर टीकाकरण केंद्र पर टीका की उपलब्धता के बारे में बोर्ड लगाने का निर्देश प्रशासन को दिया है। हिन्दुस्थान समाचार/राजबहादुर/सुनीत