हिमाचल प्रदेश के मंत्रियों के विभागों में फेरबदल
हिमाचल प्रदेश के मंत्रियों के विभागों में फेरबदल
देश

हिमाचल प्रदेश के मंत्रियों के विभागों में फेरबदल

news

सुनील शुक्ला शिमला, 01 अगस्त (हि.स.)। मंत्रिमंडल विस्तार के बाद काबिना मंत्रियों के विभागों में फेरबदल कर मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने मिशन रिपीट की राह तलाशने की कोशिश की है। मंत्रियों के विभागों में फेरबदल कर मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने जहां कुछेक वरिष्ठ मंत्रियों को झटका दिया है, वहीं जल शक्ति मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर व उद्योग मंत्री बिक्रम सिंह ठाकुर और ताकतवर हुए हैं। गोबिंद सिंह ठाकुर को शिक्षा विभाग का जिम्मा मिलने के बाद अब उनके सामने न सिर्फ प्रदेश के लाखों युवाओं से जुड़े कोरोना काल में प्रभावित इस विभाग की कार्य प्रणाली को पटरी पर लाना होगा, बल्कि केंद्र सरकार की नई शिक्षा नीति को धरातल पर उतारने की चुनौती भी होगी। साथ ही वरिष्ठ मंत्री सुरेश भारद्वाज के समक्ष भी एनजीटी के मुद्दों के निस्तारण की चुनौती होगी। सनद रहे कि एनजीटी के आदेशों से सुरेश भारद्वाज का चुनाव क्षेत्र शिमला सर्वाधिक प्रभावित है। हमीरपुर व मंडी संसदीय क्षेत्रों के मंत्रियों के पावरफुल होने से प्रतीत होता है कि मिशन रिपीट के लिए भाजपा इन दोनों ही संसदीय क्षेत्रों में वर्तमान के अपने गढ़ों को बचाने के प्रयास में है। इसी संसदीय क्षेत्र से विरेन्द्र कंवर को अब पंचायती राज व ग्रामीण विकास विभाग के साथ कृषि विभाग का जिम्मा भी दिया गया है। करीब सवा साल के अंतराल के बाद मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने पहले बीती 30 जुलाई को मंत्रिमंडल का विस्तार किया। मंत्रिमंडल के विस्तार के दौरान पहली मर्तबा विधायक बने राजेंद्र गर्ग को कैबिनेट में जगह देकर मुख्यमंत्री ने सभी को चौंका दिया। मगर इसके बाद मंत्रिमंडल विस्तार में सरवीण चौधरी व डॉ मारकंडा के साथ-साथ वरिष्ठ मंत्री सुरेश भारद्वाज, गोबिंद सिंह ठाकुर के महकमों में फेरबदल कर मुख्यमंत्री ने कई संकेत दे दिए हैं। मंत्रिमंडल में विस्तार से पहले खासा मशक्कत सरकार ने की। शुक्रवार बीती रात विभागों में फेरबदल के मसौदे को हरी झंडी दी गई। डॉ राजीव सैजल से सामाजिक कल्याण विभाग लेकर सरवीण को दिया गया, शहरी विकास सुरेश भारद्वाज के हिस्से में आया। उद्योग मंत्री बिक्रम ठाकुर की तरह और ताकतवर हुए, उन्हें परिवहन विभाग का जिम्मा मिला। गोबिंद ठाकुर के पास मौजूद तीनों वन परिवहन व युवा सेवा एवं खेल विभाग का जिम्मा वापस ले लिया गया। गोबिंद को शिक्षा विभाग के संतोष करना पड़ेगा, तो राकेश पठानिया के हिस्से में वन एवं युवा सेवा एवं खेल विभाग आए। मुख्यमंत्री ने खुद के दो विभागों ऊर्जा को सुखराम चौधरी व खाद्य एवं आपूर्ति को राजेंद्र गर्ग को सौंप दिया। हिन्दुस्थान समाचार-hindusthansamachar.in