हरियाणा : महेंद्रगढ़ के अन्तिम गांव में फटी जमीन
हरियाणा : महेंद्रगढ़ के अन्तिम गांव में फटी जमीन
देश

हरियाणा : महेंद्रगढ़ के अन्तिम गांव में फटी जमीन

news

श्याम नारनौल, 11 जुलाई (हि.स.)। हरियाणा के नारनौल से शनिवार को एक चौंंकाने वाली घटना सामने आई है। महेंद्रगढ़ के अन्तिम छोर पर बसे अटेली खंड के गांव खेड़ी कांटी में करीब चार-पांच एकड़ जमीन फट गई। हालांकि महेंद्रगढ़ जिले में करीब एक दशक पहले भी इस प्रकार की घटना घटित हो चुकी है। अभी तक इसके कारणों का खुलासा नहीं हो पाया है। मंगलवार को नारनौल के खेड़ी कांटी गांव के सोमेश्वर मंदिर के पास रहस्यमयी परिस्थियों में करीब तीन किलोमीटर की लंबाई से धरती फट गई जिसको सबसे पहले एक चरगाह ने देखा। गांव में जाकर उसने अन्य लोगों को भी बताया। लोगों ने जैसे ही उस जगह को देखा तो लोग हैरान रह गए। गांव के ही कुछ लोगों का कहना है कि यहां पर पानी की पाइप दबाई गई है जिस वजह से यह जमीन अंदर धंस गई है। कुछ लोग इसे प्राकृतिक आपदा के रुप में देख रहे हैं। गौरतलब है कि लगभग एक दशक पूर्व खटोटी खुर्द की सीमा में डोहरकलां वाले रास्ते के सामने नारनौल सिंघाना मार्ग के नजदीक दोहन नदी तटबंध की तरफ भी जमीन फटने की घटना हुई थी। उसे अरावली की हलचल से भी जोड़कर देखा गया था। अभी तक इसके सही कारणों का खुलासा नहीं हो पाया है। शनिवार को गांव खेड़ी कांटी के सरपंच नरेन्द्र सिंह चौहान ने बताया कि इसकी सूचना प्रशासन को दे दी गई है परन्तु प्रशासन की ओर से अभी तक कोई टीम गांव में नहीं आई है। हिन्दुस्थान समाचार-hindusthansamachar.in