hands-up-in-prayer-to-get-rid-of-corona-in-good-bye-prayers
hands-up-in-prayer-to-get-rid-of-corona-in-good-bye-prayers
देश

अलविदा जुमे की नमाज में कोरोना से निजात के लिए दुआ में उठे हाथ

news

- कोविड गाइडलाइन की वजह से मस्जिदों से भीड़ और बाजारों की रौनक रहीं नदारद नई दिल्ली, 07 मई (हि.स.)। कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर के बीच राजधानी दिल्ली में पवित्र रमजान माह के आखिरी जुमा ‘जुमातुल-विदा’ की नमाज मुसलमानों ने कोविड-19 की गाइडलाइंस के मुताबिक अदा की। दिल्ली के शाही जामा मस्जिद में शाही इमाम सैयद अहमद बुखारी ने अलविदा जुमे की नमाज अदा कराई। इस मौके पर वहां मस्जिद के मुख्य प्रांगण में लोगों ने दो गज की दूरी का पालन करते हुए नमाज अदा की। इसके साथ ही शाही मस्जिद फतेहपुरी में भी इमाम डॉक्टर मुफ्ती मुकर्रम अहमद ने अलविदा की नमाज अदा कराई। यहां पर भी मुख्य परिसर में ही मुसलमानों ने नमाज अदा की। नमाज के बाद मस्जिदों में विशेष तौर से दुआ का एहतेमाम किया गया। इस ख़ास मौके पर मुसलमानों ने अल्लाह से कोरोना महामारी से निजात दिलाने और पूरी दुनिया को इस महामारी से छुटकारा दिलाने की दुआ की। आज से दो साल पहले तक अलविदा के मौके पर शाही जामा मस्जिद में अलविदा की नमाज अदा करने के लिए बड़ी तादाद में मुसलमान इकट्ठा होते थे। क्षेत्रीय मुसलमानों के साथ-साथ दिल्ली एनसीआर के गांव देहातों से भी मुसलमान अलविदा जुमा की नमाज अदा करने के लिए यहां आते थे। इसकी वजह से जामा मस्जिद के परिसर के साथ-साथ सीढ़ियों, आसपास के पार्कों, सड़कों और गलियों तक में नमाजी भर जाते थे लेकिन पिछले साल और इस साल कोरोना महामारी के कारण लगे लॉकडाउन की वजह से अलविदा की नमाज पढ़ने के लिए मुसलमान यहां पर नहीं आ पा रहे हैं। अलविदा के दिन इस इलाके का मंजर देखने लायक होता था। यहां नमाज अदा करने के लिए आने वाले लोग बाजारों में ईद की खरीदारी करते हुए देखे जाते थे। ईद का खास व्यंजन शीर खुरमा और सेवईं बनाने के लिए दुकानों से लोग सेवइयां और ड्राई फ्रूट्स आदि की जमकर खरीदारी भी करते थे। यही नजारा शाही मस्जिद फतेहपुरी के आसपास भी देखने को मिलता था लेकिन पिछले दो सालों से यहां पर यह दृश्य देखने को नहीं मिल रहे हैं। आज अलविदा जुमा के दिन यहां पर डरावना सन्नाटा पसरा रहा। दिल्ली के अन्य मुस्लिम इलाकों सीलमपुर, शास्त्री पार्क, सीमापुरी, ओखला, हजरत निजामुद्दीन आदि क्षेत्रों में भी मुसलमानों ने अपने-अपने मोहल्ले की मस्जिदों में अलविदा की नमाज अदा की। दिल्ली में लगे लॉकडाउन की वजह से अन्य क्षेत्रों में रहने वाले मुसलमानों ने अपने-अपने घरों पर ही नमाज अदा की और अल्लाह से कोरोना महामारी से पूरी दुनिया को निजात दिलाने और इंसानियत को बचाने के लिए खास तौर से दुआएं कीं। हिन्दुस्थान समाचार/एम. ओवैस/मोहम्मद शहजाद