gujarat-congress-will-make-inflation-a-weapon-for-mission-2022
gujarat-congress-will-make-inflation-a-weapon-for-mission-2022
देश

गुजरात : मिशन 2022 के लिए महंगाई को हथियार बनाएगी कांग्रेस

news

- मिशन 2022 को लेकर कांग्रेस ने भी बैठक कर किया मंथन - कांग्रेस महंगाई को लेकर अपनाएगी आक्रामक रुख - गुजरात में नए अध्यक्ष, विपक्ष के नेता और प्रदेश प्रभारी की तलाश गांधीनगर/अहमदाबाद,16 जून (हि.स.)। गुजरात में कोरोना नियंत्रण में आते ही अब अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव की सरगर्मी शुरू हो गई। आम आदमी पार्टी और भाजपा ने राज्य में रणनीतिक दांव पेंच शुरू कर दिए हैं। अब कांग्रेस ने भी सत्ता हथियाने के लिए मंथन शुरू कर दिया है। बुधवार को कांग्रेस नेता परेश धनानी के बंगले पर दोपहर को लंच डिप्लोमेसी मीटिंग हुई, जिसमें प्रदेश के पूर्व अध्यक्ष अमित चावड़ा, हार्दिक पटेल, अर्जुन मोढवाडिया, भरत सिंह सोलंकी समेत अन्य नेता मौजूद रहे। कांग्रेस की बैठक में आगामी चुनावों के साथ-साथ महंगाई को लेकर आक्रामक रुख अपनाने और जातीय समीकरणों पर भी चर्चा हुई। इस समय गुजरात में नए प्रदेश अध्यक्ष, विधानसभा में विपक्ष के नेता और गुजरात कांग्रेस प्रभारी बनाने के लिए लेकर पार्टी आलाकमान में पिछले काफी समय से मंथन चल रहा है। मौजूदा राज्य अध्यक्ष अमित चावड़ा और विधानसभा में विपक्ष के नेता परेश धनानी ने स्थानीय निकाय चुनावों के नतीजों के बाद इस्तीफा दे दिया था। लेकिन अभी तक कोई नया पदाधिकारी नियुक्त नहीं किया गया है। उधर, गुजरात कांग्रेस के प्रभारी राजीव सातव के निधन से गुजरात में कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है। कांग्रेस को मजबूत करने के लिए गुजरात में नए चेहरे लगाने की भी बात चल रही है। ऐसे में कांग्रेस ने 11 जून तक गुजरात के प्रदेश प्रभारी, प्रदेश अध्यक्ष और विधायक प्रतिपक्ष के नेता के लिए नाम तय करने को कहा था लेकिन इसका अभी तक कोई हल नहीं निकाला जा सका है। खबर मिल रही है कि कांग्रेस एक या दो सप्ताह में कोई निर्णय ले सकती है। उल्लेखनीय है कि अभी हाल में ही आम आदमी पार्टी के मुखिया और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल एक कार्यालय का उद्घाटन करने के बहाने अहमदबाद में अपने कार्यकर्ताओं में उत्साह का संचार कर गए हैं। राज्य विधानसभा चुनाव में आप के पूरे दमखम से चुनाव लड़ने के संकेत दे दिए है। भाजपा प्रदेश प्रभारी भूपेन्द्र यादव ने भी मंगलवार काे विधायकों के साथ बैठक कर चुनावी रणनीति पर मंथन किया था। हिन्दुस्थान समाचार/हर्ष शाह