गुजरात : भावेश पटेल का राष्ट्रीय स्तर के अंपायर पैनल में चयन
gujarat-bhavesh-patel-selected-in-the-national-level-umpire-panel

गुजरात : भावेश पटेल का राष्ट्रीय स्तर के अंपायर पैनल में चयन

वर्तमान में भावेश पटेल वित्त विभाग में सहायक निरीक्षक वर्ग अधिकारी के रूप में हैं तैनात माणसा/अहमदाबाद, 20 जून (हि.स.)। सज्जनपुरा, माणसा में रहने वाला किसान परिवार का बेटा और वर्तमान में गांधीनगर निवासी भावेश पटेल का राष्ट्रीय क्रिकेट में अंपायर के रूप में चुना गया है। पटेल के चयन से माणसा के साथ-साथ गुजरात के लोग गर्व महसूस कर रहे हैं। दरअसल, माणसा के सज्जनपुरा क्षेत्र में रहने वाले किसान हसमुख भाई पटेल के पुत्र भावेश पटेल एक क्रिकेटर बनना चाहते थे। भावेश यूपीएससी की परीक्षा पास करना चाहते थे। लेकिन कड़ी महेनत के बावजूद सफल नहीं हुए। यूपीएससी परीक्षा की तैयारी के आधार पर उन्होंने जीपीएससी परीक्षा उत्तीर्ण कर ली। इसी बीच उनका गुजरात वित्त विभाग में एक सहायक निरीक्षक वर्ग अधिकारी के रूप में तैनाती हो गई। भावेश भाई को क्रिकेट में बहुत दिलचस्पी थी, लेकिन क्रिकेटर के रूप में करियर बनाने का मौका नहीं मिल पाया। इसके बाद भी उनकी क्रिकेट के प्रति दिलचस्पी कम नहीं हुई। इसी बीच इंटरनेट पर जानकारी मिली कि बीसीसीआई की एक परीक्षा पास करके कोई भी राष्ट्रीय स्तर का क्रिकेट अंपायर बन सकता है। बस उनको अंपायर बनने की धुन सवार हो गए। वर्ष 2016 में भावेश भाई ने इस परीक्षा को पास किया और गुजरात के 25 चयनित उम्मीदवारों में से एक उनका नाम शामिल हो गया। उन्हें अंपायर बनने के लिए चार चरणों से गुजरना पड़ा। भावेश पटेल ने इन तीनों चरणों को सफलतापूर्वक पार कर लिया था। उनकी यह मेहनत अब रंग लाई सारी बाधाएं पार करते हुए आखिर उन्होंने अपना लक्ष्य पा ही लिया। दो दिन पूर्व ही भावेश पटेल को बीसीसीआई के राष्ट्रीय स्तर के अंपायर के पैनल में शामिल कर लिया। उल्लेखनीय है कि अंपायर बनने के लिए पहले चरण में क्रिकेट के बुनियादी ज्ञान का 100 अंक का परीक्षण होता है। जिसमें 80 से अधिक अंक प्राप्त करने वाला ही दूसरे चरण में जाता है। दूसरे चरण में 100 अंकों की परीक्षा में 85 से अधिक अंक प्राप्त करने वाले का तीसरे चरण में प्रवेश मिलता है और तीसरे चरण में 100 अंकों की बहुत कठिन परीक्षा ली जाती है और अगले चरण में जाने के लिए 90 अंक प्राप्त करने होते हैं। हिन्दुस्थान समाचार / रेशमा निनामा / माधवी

Related Stories

No stories found.