government-should-give-account-of-pm-cares-fund-unknown
government-should-give-account-of-pm-cares-fund-unknown
देश

पीएम केयर्स फंड का हिसाब दे सरकार : अनजान

news

नई दिल्ली, 11 जून (हि.स.)। भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के राष्ट्रीय सचिव अतुल कुमार अनजान ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बताना चाहिए कि 'पीएम केयर्स फंड' में कितना पैसा आया और कहां खर्च हुआ। अनजान से शुक्रवार को एक बयान जारी कर कहा कि प्रधानमंत्री मोदी को यह भी बताना चाहिए कि विगत 07 वर्षों में उनके प्रधानमंत्री काल में देश पर कितना विदेशी कर्जा है और भारत कितना ब्याज प्रति वर्ष व्याज देता है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार दावा करती है कि वो पारदर्शिता के साथ सरकार चला रही है लेकिन सबसे अधिक सरकारी धन लेकर भाजपा शासलकाल में ही व्यापारी भागे हैं। भाकपा नेता ने कहा कि बड़े-बड़े पूंजीपति, उद्योगपति अरबों रुपये लेकर देश छोड़कर भाग गए, सरकार चाहे किसी की हो उन्हें रोकने में असफल रही है। भारतीय जनता पार्टी के कार्यकाल में भागने वाले उद्योगपतियों में विजय माल्या,मेहुल चौकसी , नीरव मोदी, निशांत मोदी का नाम मीडिया में चर्चा में है l इसके अतिरिक्त पुष्पेश पाध्य ,आशीष जोबनपुत्र , सनी कालरा, आरती हायजा, संजय कालरा, बरसा कालरा, सुधीर कालरा, जादिन मेहता, उमेश बारीकी ,कमलेस बारीकी, निलेश पारेख, विनय मित्तल, एकवचन गढी, चेतन जयंतीलाल दारा, नितिन जयंतीलाल दारा, दीप्तिवन चेतन , साबिया शेठ, राजीव गोयल, अलका गोयल, ललित मोदी ,रितेश जैनी, हितेश नागेंद्र भाई पटेल ,मयूरी बेहन पटेल, आशीष सुरेश भाई आदि कई नाम शामिल है। कुल मिलाकर 10 ट्रिलियन रुपये सरकारी राष्ट्रीय कृत बैंकों से लेकर ये लोग भाग चुके हैं। उन्होंने कहा कि आज नीरव मोदी, मेहुल चौकसी, विजय माल्या को देश में लाने के लिए देश की जनता की गाढ़ी कमाई के सरकारी खजाने से लगभग 200 करोड़ से अधिक कोर्ट- कचहरी में खर्च हो गए। हिन्दुस्थान समाचार/आशुतोष