from-pakistani-newspapers-opposition-and-opposition-face-to-face-with-evm-elections-like-india
from-pakistani-newspapers-opposition-and-opposition-face-to-face-with-evm-elections-like-india
देश

पाकिस्तानी अखबारों सेः भारत की तरह ईवीएम से चुनाव कराने पर सत्तापक्ष और विपक्ष आमने-सामने

news

- पांच राज्यों में हुए चुनावों में भाजपा की हार और कोराना के संगीन हालात ने भी बटोरीं सुर्खियां - यूरोपियन यूनियन में पाकिस्तान के खिलाफ प्रस्ताव पारित होने को बताया भारत की साजिश नई दिल्ली, 03 मई (हि.स.)। पाकिस्तान से सोमवार को प्रकाशित अधिकांश समाचारपत्रों ने सत्ताधारी तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी और विपक्षी दलों के बीच चुनाव सुधारों को लेकर की जा रही तैयारियों और इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन से चुनाव कराने के फैसले को लेकर नया विवाद छिड़ने से सम्बंधित खबरें दी हैं। अखबारों का कहना है कि सत्ताधारी तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी चुनाव में होने वाली धांधली और अन्य मामलों को लेकर देश में इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन से चुनाव कराने की तैयारी कर रही है। इस सिलसिले में पार्टी ने सभी विपक्षी दलों से भी साथ देने की अपील की है लेकिन मुख्य विपक्षी दल पाकिस्तान मुस्लिम लीग नवाज और पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी सहित अन्य दलों ने इसका विरोध किया है। अखबारों का कहना है कि इस सिलसिले में पाकिस्तान सरकार की तरफ से राष्ट्रपति के जरिए ऑर्डिनेंस लाने की तैयारी की जा रही है। अखबारों का कहना है कि चुनाव आयोग ने भी इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन से चुनाव कराने के सरकार के फैसले को उचित नहीं माना है। विपक्षी दलों का आरोप है कि दुनियाभर में इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन को नकार दिया गया है और पुराने बैलट सिस्टम को दोबारा से अपनाया जा रहा है। अखबारों ने प्रधानमंत्री इमरान खान के जरिए प्रोटोकॉल और सुरक्षा इंतजाम को दरकिनार करते हुए खुद से गाड़ी चलाकर इस्लामाबाद की बाजारों का दौरा करने की खबरें भी दी हैं। अखबारों का कहना है कि प्रधानमंत्री ने इस दौरान रेहड़ी-पटरी वालों से बात की और उनकी समस्याओं को सुना। दुकानदारों और आम नागरिकों से भी मुलाकात करके उनका हाल दरियाफ्त किया है। प्रधानमंत्री के इस दौरे का भी विपक्ष ने विरोध किया है। प्रधानमंत्री इमरान खान ने बजट के सिलसिले में आयोजित एक बैठक को सम्बोधित करते हुए कहा है कि नए बजट में महंगाई को रोकने के लिए प्रयास किए जाने की जरूरत है। उनका कहना है कि बजट में ऐसी व्यवस्था की जाए जिससे कि पाकिस्तान में बढ़ रही महंगाई पर काबू पाया जा सके। पाकिस्तान में बढ़ रहे कोरोना वायरस के मामलों को देखते हुए सरकार ने अफगानिस्तान और ईरान सीमा को बंद करने का फैसला लिया है। अखबारों का कहना है कि इस दौरान सामान लाने और ले जाने के लिए लोगों को इजाजत दी जाएगी मगर आम शहरियों को आने जाने की इजाजत नहीं दी जाएगी। अखबारों ने भारत में पांच राज्यों के हुए चुनाव में सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी के 3 राज्यों में हार की खबरें भी दी हैं। अखबारों का कहना है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में 3 राज्यों में भारतीय जनता पार्टी को हार का सामना करना पड़ा है जबकि 2 राज्यों में उन्हें अपने सहयोगियों की बदौलत जीत मिली है। अखबारों ने भारत में कोरोना वायरस के बढ़ रहे मामलों से सम्बंधित खबरें भी दी हैं। अखबारों का कहना है कि जर्मनी से मदद लेकर हवाई जहाज नई दिल्ली पहुंचे हैं। इस दौरान आस्ट्रेलिया ने भी भारत पर हवाई प्रतिबंध लगा दिया है। अखबारों दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन की माता की कोरोना से निधन की भी खबर दी है। अखबारों का कहना है कि भारत में कोरोना महामारी ने विकराल रूप धारण कर रखा है। पिछले कई दिनों से रोजाना औसतन 3500 से अधिक लोगों की कोरोना वायरस से मौत हो रही है। यह सभी खबरें रोजनामा खबरें, रोजनामा नवाएवक्त, रोजनामा औसाफ, रोजनामा पाकिस्तान और रोजनामा जंग ने अपने पहले पन्ने पर छापी हैं। रोजनामा नवाएवक्त ने भारत के उत्तर प्रदेश के शहर आगरा से मानवता को शर्मशार करने वाली एक खबर दी है। इस खबर में बताया गया है कि पुलिस ने एक नौजवान से ऑक्सीजन सिलेंडर छीन लिया, जिसकी वजह से उसकी मां की मौत हो गई है। अखबार का कहना है कि नौजवान पुलिस को मां की बीमारी की दुहाई देता रहा लेकिन पुलिस ने उसकी एक न सुनी और दो घंटे के बाद उसकी मां इस दुनिया को छोड़ कर चल बसी। इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है। अखबार का कहना है कि भारत में इस वक्त कोरोना वायरस महामारी ने विकराल रूप धारण कर रखा है। आए दिन इंसानियत को झकझोर देने वाली खबरें भी सामने आ रही हैं। लोग बेबसी के आलम में अपने प्यारों को अपने ही आंखों के सामने तड़प-तड़प कर मारता हुआ देख रहे हैं। रोजनामा जंग ने अफगानिस्तान में अमेरिकी फौजों के जरिए वहां से जाने का सिलसिला शुरू होते ही तालिबान के जरिए हमले तेज किए जाने की खबर दी है। अखबार का कहना है कि तालिबान ने इस दौरान 141 हमले किए हैं जिसमें 20 व्यक्तियों के मारे जाने की खबर है। अखबार का कहना है कि इन हमलों में 100 से ज्यादा लड़ाके भी मारे गए हैं। अखबार का कहना है कि अफगानिस्तान के कई राज्यों में तालिबान ने हमलों में तेजी कर दी है। अफगान मीडिया के हवाले से कहा गया है कि 24 घंटे के दौरान तालिबान ने अन्य सूबों में लगातार हमले करने शुरू कर दिए हैं जिसकी वजह से शाहरियों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। रोजनामा खबरें ने यूरोपियन पार्लियामेंट के जरिए पाकिस्तान का विशेष दर्जा जीएसपी प्लस स्टेटस खत्म किए जाने के प्रस्ताव को पास करने के फैसले का कई पूर्व राजनयिकों और राजदूतों ने विरोध किया है। साथ ही इसके पीछे भारत का हाथ होने की बात कही है। पूर्व राजदूत ग़ालिब इकबाल का कहना है कि पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों को पूरी आजादी और अधिकार दिए गए हैं। पूर्व राजनयिक अली सरवर नकवी का कहना है कि भारत लंबे अरसे से अंतरराष्ट्रीय स्तर पर साजिशें कर रहा है और वर्तमान में यूरोपियन पार्लियामेंट में पाकिस्तान के खिलाफ जो प्रस्ताव पास हुआ है, उसमें भी इसका हाथ होने की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता है। पूर्व राजदूत शुजाअत चौधरी का कहना है कि अगर यूरोपियन यूनियन ने अपनी पार्लियामेंट के प्रस्ताव पर पुनर्विचार नहीं किया तो हालात खराब हो सकते हैं। इसके अलावा पूर्व राजदूत एजाज चौधरी, आसिफ दुर्रानी, शाहिद कयानी, रियाज मोहम्मद खान, एजाज चौधरी आदि ने भी भारत पर पाकिस्तान के खिलाफ साजिश रचने का आरोप लगाया है। हिन्दुस्थान समाचार/एम ओवैस/मोहम्मद शहजाद