पाकिस्तानी अखबारों सेः फलस्तीन पर इजराइली हमले से सम्बंधित खबरें बनी सुर्खियां

पाकिस्तानी अखबारों सेः फलस्तीन पर इजराइली हमले से सम्बंधित खबरें बनी सुर्खियां
from-pakistani-newspapers-news-related-to-israeli-attack-on-palestine-made-headlines

- दो भारतीय नागरिकों के पास से यूरेनियम का टुकड़ा बरामद होने पर चीन की चिंता को दिया महत्व नई दिल्ली, 13 मई (हि.स.)। पाकिस्तान से गुरुवार को प्रकाशित अधिकांश समाचारपत्रों ने फलस्तीन पर इजराइली हमले से सम्बंधित सुर्खियां बनाई हैं। अखबारों का कहना है कि इजराइल के हवाई हमले में गाजा और फलस्तीन के अधिकांश क्षेत्र मलबे के ढेर में तब्दील हो गए हैं। इस दौरान 27 और फलस्तीनियों के मारे जाने की खबर अखबारों ने दी है। अखबारों ने यह भी खबर दी है कि प्रधानमंत्री इमरान खान ने सऊदी अरब के क्रॉउन प्रिंस मोहम्मद सलमान और तुर्की के राष्ट्रपति तैयब रजब एरदोगान से टेलीफोन पर बात करके फलस्तीन में जारी इजराइली बमबारी को रुकवाने के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर पर समर्थन जुटाने की बात कही है। अखबारों ने पाकिस्तान में ईद के चांद को लेकर मची अफरा-तफरी की भी खबरें दी हैं। अखबारों का कहना है कि रात में 11ः30 बजे ईद के चांद के निकलने की खबर दी गई जिसकी वजह से लोगों को काफी दिक्कतें का सामना करना पड़ा है। अखबारों ने पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के चेयरमैन बिलावल भुट्टो का एक बयान काफी अहमियत से छापा है। इस बयान में बिलावल भुट्टो ने कहा है कि प्रधानमंत्री इमरान खान के जरिए देश में करप्शन और मनी लांड्रिंग पर बवाल मचाने से पाकिस्तान ब्लैक लिस्ट होने के कगार पर पहुंच गया है। उनका कहना है कि बिना वजह प्रधानमंत्री के शोर मचाने से पाकिस्तान को ग्रे-लिस्ट से बाहर नहीं किया जा रहा है। पाकिस्तान मुस्लिम लीग नवाज़ के अध्यक्ष शाहबाज शरीफ ने इमरान खान सरकार पर ढुलमुल रवैया अपनाने का आरोप लगाया है। उनका कहना है कि सरकार का कभी भी एक स्टैंड नहीं रहता है। सरकार जो फैसला लेती है तो अपने ही फैसले को दूसरे दिन पलट देती है। यह एक कमजोर सरकार की निशानी होती है। अखबारों ने मंत्रिमंडल की उपसमिति की बैठक से सम्बंधित खबरें भी दी हैं। इस खबर में बताया गया है कि उपसमिति ने शाहबाज शरीफ का नाम ईसीएल में डालने के फैसले को मंजूरी दे दी है। मनी लांड्रिंग के केस में एक नैब अदालत ने सरकार से शहबाज शरीफ का नाम ईसीएल में डालने की सिफारिश की थी। यह सभी समाचार रोजनामा खबरें, रोजनामा नवाएवक्त, रोजनामा औसाफ, रोज़नामा पाकिस्तान और रोजनामा जंग ने अपने पहले पन्ने पर छापी हैं। रोजनामा नवाएवक्त ने जम्मू कश्मीर में पिछले दिनों सेना के जरिए मारे गए तीन कश्मीरी नौजवानों के शवों को उनके परिवार वालों को सौंपने से इनकार किए जाने की खबर दी है। अखबार का कहना है कि जिला इस्लामाबाद में पुलिस और सेना ने तलाशी अभियान के दौरान इन तीनों कश्मीरी जवानों को मार गिराया था। कश्मीर मीडिया सर्विस के हवाले से अखबार ने बताया है कि इस दौरान कश्मीरियों की तरफ से शवों को वापस लेने की मांग करते हुए प्रदर्शन किया गया है। अखबार ने बारामुला के पास झेलम नदी से एक कम उम्र लड़की का शव 6 दिनों बाद बरामद होने की खबर भी दी है। अखबार ने बताया है कि जिला सांबा में पुलिस पार्टी पर दोस्ती बमों से हमला किया गया जिसकी वजह से इलाके में अफरा-तफरी मच गई है। बम के सड़क पर फटने से कोई जानी नुकसान नहीं हुआ है। रोजनामा जंग ने महाराष्ट्र के एक नागरिक के पास से यूरेनियम के टुकड़े बरामद होने पर चीनी सरकार की तरफ से चिंता व्यक्त किए जाने की खबर दी है। अखबार का कहना है कि एक आम नागरिक के पास से 7 किलोग्राम का यूरेनियम का टुकड़ा बरामद होने से हमें काफी चिंता है। अखबार का कहना है कि चीन ने कहा है कि परमाणु बम बनाने में इस्तेमाल होने वाले यूरेनियम जैसी वस्तु का इस तरह मिलना चिंता का विषय है। चीन सरकार के एक प्रवक्ता का कहना है कि दुनियाभर की सरकारों को इस तरह के की वस्तुओं की रक्षा के लिए विशेष व्यवस्था करनी चाहिए। उनका कहना है कि यह एक बड़ी लापरवाही है। इससे दुनिया को खतरे में डाला जा सकता है। रोजनामा पाकिस्तान ने जापान के जरिए भारत-पाकिस्तान सहित 152 देशों पर यात्रा सम्बंधी पाबंदी लगाए जाने की खबर दी है। अखबार का कहना है कि जापान ने दुनियाभर में बढ़ रहे कोरोना वायरस महामारी के फैलाव को देखते हुए यह पाबंदी लगाई है। जापान का कहना है कि इस वक्त भारत और पाकिस्तान में कोरोना वायरस महामारी अपने पूरे चरम पर है। इसको देखते हुए जापान सरकार ने यह कड़ा फैसला किया है। जापान के विदेश मंत्रालय के जरिए जारी किए गए इस फरमान से भारत-पाकिस्तान सहित 152 देशों को तगड़ा झटका लगा है। अखबार ने यह भी बताया है कि विश्व स्वास्थ्य संगठन ने दावा किया है कि भारत में फैले कोरोना वायरस के वैरीएंट दुनियाभर के 40 देशों में पहुंच चुके हैं और वहां तबाही मचा रहे हैं। हिन्दुस्थान समाचार/एम ओवैस/मोहम्मद शहजाद

अन्य खबरें

No stories found.