From Pakistani newspapers: India's foreign affairs raise questions on Kashmir's foreign ministers
From Pakistani newspapers: India's foreign affairs raise questions on Kashmir's foreign ministers
देश

पाकिस्तानी अखबारों सेः भारत के अंदरूनी मामले कश्मीर पर तीन देश के विदेश मंत्रियों ने उठाए सवाल

news

नई दिल्ली, 14 जनवरी (हि.स.)। पाकिस्तान से गुरुवार को प्रकाशित अधिकांश अख़बारों ने पाकिस्तान में आयोजित पाकिस्तान, तुर्की और उज्बेकिस्तान के विदेश मंत्रियों के सम्मेलन से सम्बंधित खबरें प्रकाशित की हैं। अखबारों ने तीनों देशों के विदेश मंत्रियों के संयुक्त संवाददाता सम्मेलन की भी खबर प्रकाशित की है। खबरों में कहा गया है कि तीनों देशों के विदेश मंत्रियों ने भारतीय कश्मीर में सरकार के जरिए वहां के लोगों पर की जा रही बर्बरतापूर्ण कार्रवाई का विरोध किया है। तीनों देशों के विदेश मंत्रियों ने कश्मीर समस्या का समाधान संयुक्त राष्ट्र संघ के प्रस्ताव के अनुसार करने का आह्वान किया है। अखबारों ने प्रधानमंत्री इमरान खान की पार्टी प्रवक्ताओं के साथ आयोजित होने वाली बैठक की भी खबर दी है। इस बैठक में इमरान खान ने प्रवक्ताओं से सरकार की उपलब्धियों को आवाम को बताने की हिदायत दी है। इमरान खान ने इस मौके पर प्रवक्ताओं से पूर्व शासकों के जरिए पाकिस्तान में की गई धन की लूट के बारे में अवाम को अवगत कराने को कहा है। इमरान खान ने कहा है कि पनामा पेपर लीक और नया मामला बराट शीट घोटाले के बारे में भी लोगों को बताया जाए ताकि लोगों को पता चले कि पुरानी सरकारों ने पाकिस्तान की आवाम को किस तरह से लूटा है और लूट का पैसा विदेशी में जमा किया है। अखबारों ने पीडीएम प्रमुख मौलाना फजलुर्रहमान का एक बयान भी छापा है जिसमें उन्होंने कहा कि पाकिस्तान की आवाम पुराने चोरों को एक बार फिर से सत्ता देना चाहती है ताकि उन्हें आसानी से रोटी तो मिल सके। पाकिस्तान के सेनाध्यक्ष जनरल कमर जावेद बाजवा की हजारा कम्युनटी के लोगों से मुलाकात की खबर भी प्रकाशित की गई है। इस मौके पर जनरल बाजवा ने कहा कि वह किसी भी सूरत में मुल्क की सुरक्षा के साथ किसी को भी खिलवाड़ करने की इजाजत नहीं देंगे। उन्होंने हजारा कम्युनिटी के लोगों को विश्वास दिलाया है कि बलूचिस्तान प्रांत के मछ इलाके में हुए आतंकवादी हमले में मारे जाने वालों को इंसाफ मिलेगा और उनके हत्यारों को जल्द से जल्द पकड़ कर सजा दिलाने का काम किया जाएगा। यह सभी खबरें रोजनामा औसाफ, रोजनामा जिन्नाह, रोजनामा नवाएवक्त, रोजनामा जंग, रोजनामा खबरें, रोजनामा पाकिस्तान ने अपने पहले पृष्ठ पर प्रकाशित की हैं। रोजनामा नवाएवक्त ने वजीरिस्तान में सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़ होने की खबर दी है। अखबार ने लिखा है कि इस घटना में तीन जवान मारे गए हैं और तीन जवान जख्मी हुए हैं। खुफिया सूचना पर पुलिस ने घटनास्थल पर जाकर घेराबंदी की थी जिसके बाद दोनों तरफ से हुई फायरिंग में दो जवानों के मारे जाने और तीन के घायल होने की खबर मिली है। घटना के बाद इलाके की घेराबंदी कर दी गई है और सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है। अखबार ने लाहौर से एक दिल दहला देने वाली खबर भी दी है। खबरों में कहा गया है कि एक पिता ने अपनी दो विकलांग बच्चियों की गला रेतकर हत्या कर दी है। बाद में पिता ने भी आत्महत्या कर ली है। क्षेत्रीय पुलिस ने शवों को कब्जे में लेकर मुर्दा घर में रखवा दिया है। बाद में शवों का पोस्टमार्टम किया जाएगा। खबरों में बताया गया है कि इस मामले में बच्चियों की मां भी शामिल थी। रोजनामा खबरें ने ब्रिटिश एयरवेज के हवाले से यह खबर दी है कि ब्रिटिश एयरवेज ने अप्रैल 2021 से लाहौर और लंदन के लिए अपनी उड़ानें बंद कर देगी। एयरवेज की तरफ से नया शेड्यूल जारी किया गया है जिसमें ब्रिटिश एयरवेज ने यह जानकारी दी है। एयरवेज के इस फैसले से पाकिस्तानियों को आने वाले समय में काफी दिक्कत का सामना करना पड़ेगा। अखबार ने यह भी खबर दी है कि पाकिस्तान सुप्रीम कोर्ट ने सीनेट के चुनाव खुले बैलेट से कराने के राष्ट्रपति के रेफरेंस पर टिप्पणी करते हुए चीफ जस्टिस गुलजार अहमद ने कहा कि अदालतें कानून की रक्षा के लिए हैं, लोगों की चरित्र की रक्षा के लिए नहीं है। उन्होंने कहा कि अगर गुप्त मतदान होता है तो सदस्यों के जरिए अपने उम्मीदवार के बजाय किसी और के हक में मतदान किया जाता है तो वह उसके चरित्र को उजागर करता है। जस्टिस गुलजार ने कहा कि सरकार को इसके लिए अदालत के बजाय पार्लिमेंट का सहारा लेना चाहिए। हिन्दुस्थान समाचार/एम ओवैस/मोहम्मद शहजाद-hindusthansamachar.in