पाकिस्तानी अखबारों सेः ईद की छुट्टियों के दौरान विपक्षों दलों में मेलजोल बढ़ाने की खबरें बनीं सुर्खियां

पाकिस्तानी अखबारों सेः ईद की छुट्टियों के दौरान विपक्षों दलों में मेलजोल बढ़ाने की खबरें बनीं सुर्खियां
from-pakistani-newspapers-during-the-eid-holidays-the-news-of-increasing-interaction-among-opposition-parties-made-headlines

- भारत से तमिलनाडु की दलित उत्पीड़न की घटना को दी प्रमुखता - जम्मू-कश्मीर में इजराइल के खिलाफ होने वाले प्रदर्शनों पर हुई कार्रवाइयों को दी जगह नई दिल्ली, 17 मई (हि.स.)। पाकिस्तान से सोमवार को प्रकाशित होने वाले अधिकांश समाचारपत्रों ने ईद की छुट्टियों में प्रमुख विपक्षी दलों के बीच मेलजोल बढ़ाने और विपक्षी दलों के संयुक्त मोर्चा पीडीएम में पड़ी दरार को पाटने की कोशिशों से सम्बंधित खबरें अखबारों ने खासी अहमियत से प्रकाशित की हैं। अखबारों का कहना है कि पीडीएम अध्यक्ष मौलाना फजलुर्रहमान ने ईद के मौके पर विपक्षी दलों के सभी नेताओं से बातचीत करके इमरान खान सरकार के खिलाफ एक बार फिर से एकजुट होने और सरकार को उखाड़ फेंकने के लिए प्रयास तेज किए जाने की खबरें दी हैं। अखबारों ने फलस्तीन पर इजराइली हमले से सम्बंधित खबरें भी दी हैं। अखबारों ने बताया है कि इस्लामिक देशों के संगठन के विदेश मंत्रियों के सम्मेलन में प्रस्ताव पास कर इजराइल की निंदा की गई है। अखबारों ने बताया है कि सम्मेलन ने इजराइल से फौरन फलस्तीन पर हमला रोकने की मांग की है। इस सिलसिले में सुरक्षा परिषद की बैठक बेनतीजा होने और चीन के जरिए अमेरिका पर फलस्तीन समस्या पर दोहरी राजनीति करने का आरोप लगाने से सम्बंधित खबरें भी दी गई हैं। अखबारों ने पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के अध्यक्ष बिलावल भुट्टो का एक बयान भी प्रकाशित है। इस बयान में उन्होंने कहा है कि पाकिस्तान की सत्ता पर काबिज तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी ने ईद के मौके पर सिंध प्रांत का पानी रोकने की कोशिश की है। बिलावल भुट्टो के आरोप का जवाब देते हुए सरकार के प्रवक्ता ने कहा है कि केंद्र सरकार की तरफ से ऐसा कोई प्रयास नहीं किया गया है। सभी राज्यों को उनका तयशुदा पानी मुहैया कराया जा रहा है। पाकिस्तान मुस्लिम लीग नवाज की उपाध्यक्ष मरियम नवाज ने प्रधानमंत्री इमरान खान पर कश्मीर का सौदा करने का आरोप लगाया है। उन्होंने अपने बयान में कहा है कि मुल्क के गद्दार वह हैं, जो यहूदी कंपनियों के विज्ञापन किया करते थे। यह सभी खबरें रोजनामा नवाएवक्त, रोजनामा औसाफ, रोजनामा खबरें, रोजनामा पाकिस्तान और रोजनामा जंग ने अपने पहले पन्ने पर छापी हैं। रोजनामा नवाएवक्त ने तमिलनाडु के एक गांव में उच्च जाति से सम्बंध रखने वाले पंचायत सदस्यों के सामने दलित समाज के 3 बुजुर्गों को कदमों पर गिर कर माफी मांगने से संबंधित खबर दी है। अखबार का कहना है कि इस गांव में रहने वाले दलित समाज के तीन बुजुर्गों को पंचायत के सदस्यों ने उनकी इजाजत के बिना संगीत समारोह का आयोजन करने पर उन्हें प्रताड़ित किया है। अखबार का कहना है कि ऊंची जाति के हिंदुओं को इस बात पर बेहद गुस्सा आया कि दलित समाज के इन बुजुर्गों ने बिना उनकी अनुमति के गांव में संगीत का समारोह का आयोजन क्यों रखा? अखबार का कहना है कि इस सिलसिले में सरकारी अधिकारियों का कहना है कि सरकार की अनुमति के बिना यह कार्यक्रम रखा गया था जिसमें कोरोना वायरस से सम्बंधित दिशा निर्देशों का खोलकर उल्लंघन किया गया। जम्मू-कश्मीर में फलस्तीनियों के पक्ष में और इजराइल के खिलाफ आयोजित होने वाले धरना-प्रदर्शन को रोकने के लिए सरकार की तरफ से बड़ी कार्रवाई किए जाने की खबर रोजनामा खबरें ने दी है। अखबार ने बताया है कि धरना प्रदर्शन को रोकने के लिए बड़ा क्रैकडाउन किया गया है और दर्जनों कश्मीरियों को गिरफ्तार किया गया है। अखबार का कहना है कि श्रीनगर और दूसरे क्षेत्रों में दो कश्मीरी नौजवानों को सेना ने गिरफ्तार किया है। अखबार ने बताया है कि शोपियां में सेना की गाड़ी के नजदीक बारूदी सुरंग धमाका हुआ है जिसकी वजह से सेना ने वहां सर्च ऑपरेशन शुरू किया है। अखबार का कहना है कि इस दौरान विभिन्न स्थानों से चार लाशें बरामद की गई हैं। अखबार ने जम्मू-कश्मीर हुर्रियत कान्फ्रेंस के सीनियर नेता मोहम्मद अशरफ के दो बेटों को भी सेना के जरिए गिरफ्तार किए जाने की खबर प्रकाशित की है। अखबार ने जिला बारामुला में तैनात बीएसएफ के एक जवान का दिल का दौरा पड़ने से मौत होने की खबर भी दी है। रोजनामा पाकिस्तान ने विश्व में वायु प्रदूषण से सम्बंधित एक ताजा रिपोर्ट के जारी होने की खबर दी है। इस खबर में बताया गया है कि भारत और चीन के 88 फीसद शहरों में वायु प्रदूषण की गुणवत्ता काफी खराब है। इस रिपोर्ट में कराची को 12 वां और लाहौर का 15 वां स्थान दिया गया है। रिपोर्ट में 100 शहरों को सबसे ज्यादा खतरनाक बताया गया है। 400 शहरों और लगभग डेढ़ अरब आबादी को कड़ी गर्मी, वायु प्रदूषण और जलवायु परिवर्तन से होने वाले नुकसान का सामना करते हुए बताया गया है। खबर में बताया गया है कि इन शहरों में से 88 फीसद शहरों का सम्बंध भारत और चीन से है। इसके अलावा अरब मुल्कों और अफ्रीकी देशों पर भी इस तरह के खतरे मंडरा रहे हैं। रोजनामा जंग ने जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती का एक बयान छापा है, जिसमें उन्होंने भारत सरकार पर आरोप लगाया है कि पब्लिक सेफ्टी एक्ट को हर समस्या के समाधान का हल सरकार ने समझ रखा है। अखबार का कहना है कि महबूबा मुफ्ती ने कई ट्वीट में कहा है कि हुर्रियत नेता मोहम्मद अशरफ सहराई को उनके बेटों ने हिरासत के दौरान उचित स्वास्थ्य सुविधा नहीं मिलने के कारण खो दिया है। उन्होंने आरोप लगाया है कि फलस्तीन पर इजरायल के हमले की दुनिया भर में आलोचना की जा रही है और धरना प्रदर्शन किया जा रहा है मगर कश्मीर में ऐसा करना अपराध है। उनका आरोप है कि ऐसा करते हुए एक आर्टिस्ट को और एक धार्मिक नेता को सरकार ने गिरफ्तार कर लिया है। उनका कहना है कि कश्मीर एक खुली जेल है जहां लोगों के ख्यालात पर पहरा बैठा दिया गया है। किसी को अपनी राय का इजहार करने के लिए यहां पर कोई जगह खाली नहीं है। हिन्दुस्थान समाचार/एम ओवैस/मोहम्मद शहजाद