इंदौर में गणेश प्रतिमा विसर्जन में लापरवाही बरतने पर 9 के खिलाफ एफआईआर

 इंदौर में गणेश प्रतिमा विसर्जन में लापरवाही बरतने पर 9 के खिलाफ एफआईआर
fir-against-9-for-negligence-in-immersion-of-ganesh-idol-in-indore

इंदौर, 22 सितम्बर (आईएएनएस)। मध्य प्रदेश की व्यापारिक नगरी इंदौर में अनंत चतुदर्शी के मौके पर गणेश प्रतिमा विसर्जन के दौरान प्रतिमाओं को फेंके जाने का वीडियो वायरल हुआ था। इस मामले को नगर निगम ने गंभीरता से लेते हुए इस कार्य में लिप्त नौ कर्मचारियों के खिलाफ थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई है। इन नौ कर्मचारियों की सेवाएं भी समाप्त कर दी गई हैं। ज्ञात हेा कि गणेश प्रतिमाओं के विसर्जन के दौरान का एक वीडियो वायरल हुआ था जिसमें नगर निगम के कर्मचारी प्रतिमाओं केा फेंक रहे थे। इस मामले के सामने आने पर आधिकारिक तौर पर जारी बयान में कहा गया कि गणेश प्रतिमा विसर्जन में लापरवाही बरतने तथा जनभावना आहत करने वाले अधिकारी-कर्मचारियों के विरूद्ध सख्त कार्रवाई की जा रही है। इसी सिलसिले में नौ कर्मचारियों के विरूद्ध एफआईआर चंदन नगर थाने में दर्ज करायी गयी है। प्राप्त जानकारी के अनुसार जिन कर्मचारियों के विरूद्ध एफआइआर दर्ज हुयी है उनमें उपयंत्री तथा सुपरवाइजर शैलेन्द्र निम्मा, मस्टर कर्मी राजेश रामाजी, राजू शंकरलाल, हेमराज रामलाल, सुनील लक्ष्मीनारायण तथा करण मोहनलाल, मुकेश कालुराम तथा लखन रामफुल और सुपरवाइजर मदन रामकिशन शर्मा शामिल है। एफआईआर दर्ज किए जाने के साथ ही इन कर्मचारियों की सेवाएं भी नगर निगम से समाप्त कर दी गई है। इसके अलावा नगर निगम के संबंधित झोनल अधिकारी और अन्य कर्मचारियों को निलंबित भी कर दिया गया है। इस मामले के सामने आने के बाद कलेक्टर मनीष सिंह ने कहा है कि किसी भी दोषी को बख्शा नही जायेगा। सख्त से सख्त कार्रवाई की जा रही है। --आईएएनएस एसएनपी/आरजेएस

अन्य खबरें

No stories found.