female-driver-sirisha-and-aparna-arrive-in-bengaluru-with-39oxygen-express39-from-jharkhand
female-driver-sirisha-and-aparna-arrive-in-bengaluru-with-39oxygen-express39-from-jharkhand
देश

झारखंड से 'ऑक्सीजन एक्सप्रेस' लेकर बंगलुरु पहुंचीं महिला चालक सिरीशा और अपर्णा

news

नई दिल्ली, 22 मई (हि.स.)। कोरोना संकट में भारतीय रेलवे 'ऑक्सीजन एक्सप्रेस' ट्रेनों के माध्यम से राज्यों को ऑक्सीजन की आपूर्ति कर रही है। इस काम में भारतीय रेलवे की महिला लोको पायलट भी पीछे नहीं हैं। पूरी तरह से महिला चालक दल द्वारा संचालित ऐसी ही एक ऑक्सीजन एक्सप्रेस ट्रेन जमशेदपुर से 120 मीट्रिक टन चिकित्सा ऑक्सीजन के साथ बंगलुरु पहुंची। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने बंगलुरु पहुंचीं ट्रेन के महिला चालक दल का वीडियो साझा करते हुए शनिवार को ट्वीट किया, "कर्नाटक के लिए सातवीं ऑक्सीजन एक्सप्रेस शुक्रवार को टाटानगर (जमशेदपुर) से बेंगलुरु पहुंची है। केवल महिलाओं पर आधारित चालक दल द्वारा संचालित यह ऑक्सीजन एक्सप्रेस ट्रेन राज्य में कोविड-19 रोगियों के लिए ऑक्सीजन की निरंतर आपूर्ति सुनिश्चित करेगी।” रेल मंत्रालय के अनुसार लोको पायलट सिरीशा गजनी और सहायक लोको पायलट अपर्णा आर पी शुक्रवार को ऑक्सीजन ट्रेन के साथ बेंगलुरु पहुंची। भारतीय रेलवे 24 अप्रैल से अब तक देशभर में 224 से अधिक ट्रेनों से 14,500 मीट्रिक टन चिकित्सा उपयोग के लिए मेडिकल ऑक्सीजन की आपूर्ति कर चुकी हैं। इसमें से कर्नाटक में 943 मीट्रिक टन की आपूर्ति की गई है। रेलवे अधिकारियों के मुताबिक, आठवीं ऑक्सीजन एक्सप्रेस भी आज सुबह 109.2 मीट्रिक टन जीवन रक्षक गैस लेकर गुजरात के जामनगर से बेंगलुरु पहुंची। राज्य सरकार ने राज्य में बढ़ते कोविड मामलों को देखते हुए प्रतिदिन 1,200 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की मांग की है। हिन्दुस्थान समाचार/सुशील