ईडी ने मनी लॉन्ड्रिंग मामले में आप पार्टी के पंकज गुप्ता को जारी किया समन

 ईडी ने मनी लॉन्ड्रिंग मामले में आप पार्टी के पंकज गुप्ता को जारी किया समन
ed-summons-aap39s-pankaj-gupta-in-money-laundering-case

नई दिल्ली, 13 सितम्बर (आईएएनएस)। प्रवर्तन निदेशालय ने पंजाब आप के पूर्व नेता सुखपाल सिंह खैरा से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय सचिव पंकज गुप्ता को समन जारी किया है। गुप्ता को अगले हफ्ते जांच में शामिल होने के लिए कहा गया है। प्रवर्तन निदेशालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि उन्हें मनी लॉन्ड्रिंग मामले में तलब किया गया है, जिसमें पंजाब के पूर्व विधायक और पंजाब एकता पार्टी के प्रमुख सुखपाल सिंह खैरा की जांच की जा रही है। मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में खैरा के खिलाफ जांच चल रही है। भारत की प्रमुख वित्तीय जांच एजेंसी, प्रवर्तन निदेशालय ने भी खैहरा के खिलाफ दर्ज मादक पदार्थों की तस्करी और फर्जी पासपोर्ट से संबंधित दो अलग-अलग मामलों का संज्ञान लिया है। ईडी ने आरोप लगाया है कि खैरा ड्रग मामले के दोषियों और फर्जी पासपोर्ट रैकेटरों का सहयोगीहै। 56 वर्षीय राजनेता ने किसी भी गलत काम से इनकार किया है और कहा था कि उन्हें केंद्रीय एजेंसियों द्वारा निशाना बनाया जा रहा है क्योंकि वह केंद्र के कृषि कानूनों के खिलाफ मुखर रहे हैं। उनके खिलाफ मामला 2015 के फाजिल्का (पंजाब) ड्रग्स-तस्करी मामले में जांच से संबंधित है जिसमें 1,800 ग्राम हेरोइन, 24 सोने के बिस्कुट, दो हथियार, 26 जिंदा कारतूस और दो पाकिस्तानी सिम कार्ड सुरक्षा एजेंसियों द्वारा एक गिरोह से जब्त किए गए थे। खैरा पहले आप में थे और यह आरोप लगाया जाता है कि उन्होंने संयुक्त राज्य अमेरिका में आप की ओर से लगभग 1,00,000 अमेरिकी डॉलर का दान दिया था। इस साल मार्च में, प्रवर्तन निदेशालय ने धनशोधन मामले में खैरा और कुछ अन्य के परिसरों पर छापेमारी की थी। चंडीगढ़ में खैरा के आवास, हरियाणा और पंजाब में पांच अन्य स्थानों और दिल्ली में दो स्थानों पर छापेमारी की गई। खैरा पंजाब एकता पार्टी के विधायक हैं, जिसकी स्थापना उन्होंने 2019 में की थी। वह कपूरथला जिले के भोलाथ से विधायक हैं। वह 2017 में आम आदमी पार्टी (आप) के टिकट पर राज्य विधानसभा के लिए चुने गए थे। मार्च में, ईडी के सहायक निदेशक राजा राम मीणा ने धन शोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) के प्रावधानों के तहत खैरा और अन्य को भी तलब किया था। खैरा के निजी सहायक मनीष कुमार और उनके दामाद इंद्रवीर सिंह जोहल को भी 16 मार्च को ईडी के सामने पेश होने के लिए तलब किया गया था। --आईएएनएस एनपी/आरजेएस

अन्य खबरें

No stories found.