ड्रोन हमला नई सुरक्षा चुनौती और तकनीकी खतरा, हम तकनीक से निपटेंगे: आईजीपी

ड्रोन हमला नई सुरक्षा चुनौती और तकनीकी खतरा, हम तकनीक से निपटेंगे: आईजीपी
drone-attack-new-security-challenge-and-technical-threat-we-will-deal-with-technology-igp

श्रीनगर, 29 जून (हि.स.)। कश्मीर रेंज के पुलिस महानिरीक्षक (आईजीपी) विजय कुमार ने कहा कि वायुसेना स्टेशन पर हुए ड्रोन हमले ने सुरक्षा चुनौतियों के साथ नया तकनीकी खतरा पैदा किया है। जम्मू पुलिस ने सभी सुरक्षा एजेंसियों के साथ संयुक्त रूप से स्थिति की समीक्षा की है। उन्होंने कहा कि कश्मीर घाटी में सभी सुरक्षा प्रतिष्ठानों और नियंत्रण रेखा पर हाई अलर्ट रखा गया है। आईजीपी कश्मीर ने पीसीआर श्रीनगर में मंगलवार को एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि सेना की जीओसी 15 कोर और जम्मू पुलिस ने अन्य सुरक्षा एजेंसियों के अधिकारियों के साथ ड्रोन खतरे की समीक्षा की है। यह एक नई सुरक्षा चुनौती और तकनीकी खतरा है जिससे हम तकनीकी रूप से निपटेंगे। महत्वपूर्ण प्रतिष्ठानों पर सुरक्षा बढ़ाई गई है जिसका विवरण साझा नहीं किया जा सकता है। आईजीपी ने कहा कि घाटी में सभी सुरक्षा प्रतिष्ठानों को हाई अलर्ट पर रखा गया है। उन्होंने कहा कि आज जम्मू में एक ड्रोन गतिविधि देखी गई जिसके बाद प्राथमिकी दर्ज की गई। आईजीपी ने कहा कि हम हाई अलर्ट पर हैं और इस नई चुनौती का सामना करने के लिए तैयार हैं। जम्मू क्षेत्र में पहले से ही एक के बाद एक ड्रोन की आवाजाही रही है और अब वायु सेना स्टेशन पर ड्रोन से विस्फोटक गिराए गए हैं। वायु सेना स्टेशन इस क्षेत्र के रणनीतिक रक्षा प्रतिष्ठानों में से एक है। उन्होंने कहा कि विस्फोट के बाद हाई अलर्ट पर हैं। कश्मीर पुलिस प्रमुख विजय कुमार ने कहा कि 27 जून की रात अवंतीपुर के हरिपरिगाम में एक विशेष पुलिस अधिकारी (एसपीओ) उनकी पत्नी और बेटी की हत्या करने वाले दो हमलावरों की पहचान जैश-ए-मोहम्मद के दो आतंकवादियों के रूप में की गई है जिनमें से एक विदेशी आतंकी है। उन्होंने कहा कि दोनों आतंकवादियों का जल्द ही पता लगा लिया जाएगा क्योंकि अवंतीपुर क्षेत्र में तलाशी शुरू कर दी गई है। आईजीपी कश्मीर ने कहा कि आतंकवादी निर्दाेष नागरिकों और निहत्थे पुलिसकर्मियों को निशाना बना रहे हैं, इन हत्याओं का उद्देश्य मौजूदा पर्यटन सीजन को बाधित करना है। हिन्दुस्थान समाचार/बलवान/सुनीत

अन्य खबरें

No stories found.