न्यायिक अधिकारियों को चिकित्सा सहायता के लिए डीएम से समन्वय स्थापित करें डिस्ट्रिक्ट एंड सेशंस जज

न्यायिक अधिकारियों को चिकित्सा सहायता के लिए डीएम से समन्वय स्थापित करें डिस्ट्रिक्ट एंड सेशंस जज
district-and-sessions-judge-to-coordinate-with-dm-for-medical-assistance-to-judicial-officers

नई दिल्ली, 29 अप्रैल (हि.स.)। दिल्ली हाईकोर्ट ने निचली अदालतों के डिस्ट्रिक्ट एंड सेशंस जजों को निर्देश दिया कि वे न्यायिक अधिकारियों और उनके परिजनों की चिकित्सा सुविधा का ध्यान रखने के लिए समन्वय स्थापित करें। कोर्ट ने सभी डिस्ट्रिक्ट एंड सेशंस जजों को निर्देश दिया कि वे जिले के डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट के साथ मिलकर कोविड सेंटर का स्थान निर्धारित करें। सुनवाई के दौरान वरिष्ठ वकील संजय घोष ने न्यायिक अधिकारियों के इलाज के लिए समन्वित मैकेनिज्म बनाने की मांग की। घोष ने कहा कि हम नहीं चाहते कि हमारे जज कोरोना का शहीद बनें। उन्होंने कहा कि कुछ न्यायिक अधिकारियों की मौत हो गई और 60 से ज्यादा न्यायिक अधिकारी कोरोना के संक्रमण का शिकार हुए हैं। घोष ने सुझाव दिया कि न्यायिक अधिकारियों और उनके परिवार के सदस्यों के लिए उनके आवासीय परिसरों को डिस्पेंसरी में और कोर्ट परिसर को कोविड केयर सेंटर में तब्दील कर दिया जाए। कोर्ट ने इस मामले पर केंद्र और दिल्ली सरकार को नोटिस जारी कर जवाब दाखिल करने का निर्देश दिया। हिन्दुस्थान समाचार/संजय/सुनीत