मप्र में कोविड संक्रमितों का सहारा बना देवी अहिल्या कोविड केयर सेंटर

मप्र में कोविड संक्रमितों का सहारा बना देवी अहिल्या कोविड केयर सेंटर
devi-ahilya-kovid-care-center-becomes-the-support-of-kovid-infections-in-mp

भोपाल, 29 अप्रैल (हि.स.)। मध्य प्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर के खंडवा रोड पर स्थित राधास्वामी सत्संग (ब्यास) परिसर में बना मां अहिल्या कोविड केयर सेन्टर कोरोना संक्रमित मरीजों का सहारा बनकर सामने आया है। गुरुवार को यह सेंटर अपनी पूरी क्षमता में भर चुका है। मां अहिल्या कोविड केयर सेंटर में भर्ती सभी कोरोना संक्रमित मरीजों को बेहतर वातावरण में उपचार किया जा रहा है। उनके भोजन पानी इत्यादि की बेहतर व्यवस्था है। सभी व्यवस्थाएं जन-सहयोग से की गई हैं। इन व्यवस्थाओं पर कोरोना संक्रमित मरीज संतोष जाहिर कर रहे हैं। यही भारत की तासीर है। समाज यदि अपना मन बना ले तो बाहर से दिखने वाली कठिनाई कितनी भी बड़ी क्यों न दिखाई देती हो, उससे मुकाबला करना आसान सा नजर आता है। कोरोना काल में जगह-जगह ऐसा नजारा दिखाई दे रहा है। मां अहिल्या कोविड केयर सेंटर उन्हीं स्थलों में एक है। उल्लेखनीय है कि इस सेंटर की शुरूआत 22 अप्रैल 2021 को हुई थी। प्रथम चरण में यहां 600 बेड की संख्या उपलब्ध है। इनमें से 100 बेड्स को ऑक्सीजन बेड बनाने की प्रक्रिया जारी है। सेन्टर में 27 अप्रैल तक 476 मरीज भर्ती होकर स्वास्थ्य लाभ ले रहे हैं। सेंटर के प्रशासनिक अधिकारी एसडीएम रवि सिंह ने बताया कि इसके अतिरिक्त विभिन्न निजी और शासकीय अस्पताल में ऐसे मरीज जो लगभग ठीक हो चुके हैं, परन्तु अभी भी उन्हें स्वास्थ्य लाभ की आवश्यकता है, उन्हे मां अहिल्या कोविड केयर सेन्टर में भर्ती कर उनका उपचार किया जा रहा है, ताकि अस्पतालों में अधिक बेड उपलब्ध हो सकें। इसके लिये भी मां अहिल्या कोविड केयर सेन्टर में कुछ बेड आरक्षित रखने का निर्णय हुआ है। यहां नियुक्त प्रभारी चिकित्सक डॉ. अनिल डोंगरे का कहना है कि राधा स्वामी सत्संग (ब्यास) में बनाए गए कोविड केयर सेंटर में स्वास्थ्य लाभ ले रहे कोरोना से संक्रमित मरीज उपचार के साथ-साथ उत्साह से कोरोना को हराने का प्रयास कर रहे हैं। आज परिसर में उपचाररत मरीज पंच सांग पर आनंदित होकर झूम उठे। सेंटर पर घर जैसी सुविधाएं इसके अलावा यहां मौजूद मरीजों ने बताया है कि राधा स्वामी सत्संग (ब्यास) कोविड केयर सेंटर में रहकर हमें अपने घर जैसे लग रहा है। उन्होंने कहा कि यहां पर हमें हल्दी वाला दूध और गरारे करने के लिये नमक वाला पानी और सभी प्रकार की आवश्यक सुविधाएं भी दी जा रही हैं। सभी डॉक्टर्स एवं नर्स पूरा ध्यान रख रहे हैं। सेंटर पर काम करने वाला स्टॉफ भी बहुत अच्छा है। इस प्रकार की सुविधा प्रदान करने के लिये उन्होंने प्रशासन को दिल से धन्यवाद भी दिया है। हिन्दुस्थान समाचार/डॉ. मयंक चतुर्वेदी