दिल्ली: केन्द्र से वैक्सीन की नई खेप मिलेगी, युवाओ के वैक्सीनेशन पर जोर

 दिल्ली: केन्द्र से वैक्सीन की नई खेप मिलेगी, युवाओ के वैक्सीनेशन पर जोर
delhi-new-consignment-of-vaccine-will-be-received-from-the-center-emphasis-on-vaccination-of-youth

नई दिल्ली, 9 जून (आईएएनएस)। दिल्ली सरकार को केंद्र से 21 जून से वैक्सीन की नई खेप मिलनी शुरू होंगी। दिल्ली में फिलहाल वैक्सीन की कमी के कारण युवाओं के वैक्सीनेशन में दिक्कत आ रही है। हालांकि दिल्ली सरकार का कहना है कि वैक्सीन की नई खेप मिलते ही सभी आयु वर्ग के लोगों का व्यापक वैक्सीनेशन किया जाएगा। इस बीच मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बुधवार को एक वैक्सीनेशन सेंटर का दौरा किया। इस सेंटर दिल्ली के एक सरकारी विद्यालय में जहां वोट, वहीं वैक्सीनेशन अभियान के तहत बनाया गया है। मुख्यमंत्री ने 45 साल से अधिक उम्र के लोगों को वैक्सीन लगावाने के लिए प्रोत्साहित भी किया। सीएम ने कहा कि दिल्ली सरकार की इस मुहिम में हमने घर से वैक्सीनेशन सेंटर तक आने-जाने के लिए ई-रिक्शे का भी इंतजाम किया है। जिस तरह, मतदान से पहले बीएलओ घर-घर जाकर पर्ची देते हैं, उसी तरह वैक्सीन लगवाने के लिए स्लॉट की पर्ची दे रहे हैं। लोगों को जागरूक भी कर रहे हैं। सीएम ने कहा कि वैक्सीन को लेकर लोगों के मन में तरह-तरह की अफवाहें फैली हैं, उनको दूर करने की जिम्मेदारी हम सब की है। सीएम ने अपने देश के चुनाव के प्रशासनिक ढांचे की तारीफ करते हुए कहा कि अगर हम अपने चुनावी ढांचे का पूरे देश में इस्तेमाल करते हैं, तो दो से तीन महीने में सबको वैक्सीन लगा सकते हैं। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा, 45 साल से अधिक उम्र के लगभग 50 फीसदी लोगों को वैक्सीन लग चुकी है। अभी भी 50 फीसद लोगों का वैक्सीनेशन शेष है। दिल्ली में करीब 57 लाख लोग 45 साल से अधिक उम्र के हैं। इसमें से करीब 27-28 लाख लोगों को वैक्सीन लग चुकी है और करीब 30 लाख लोगों को अभी वैक्सीन नहीं लगी है। सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि 45 साल से अधिक उम्र के लोग अधिक संख्या में नहीं आ रहे थे। इसलिए हमें लगा कि अब घर-घर जाकर लोगों को वैक्सीनेशन के लिए निमंत्रित करना चाहिए और उन्हें जागरूक करना चाहिए। सीएम ने कहा कि इस सप्ताह दिल्ली के 70 वाडरें में ह्यजहां वोट, वहां वैक्सीनेशन अभियान शुरू किया गया है। चार हफ्ते के अंदर पूरी दिल्ली में 45 साल से उपर के उम्र के लोगों को वैक्सीन की पहली डोज लगा दी जाएगी। अगर हमारे पास 18 से 44 साल की उम्र के लोगों के लिए भी वैक्सीन उपलब्ध होती, तो इसी तरह से उनका भी अभियान चलाया जाएगा। --आईएएनएस जीसीबी/आरजेएस