delhi-needs-976-metric-tonnes-of-oxygen-center-increases-quota-delhi-government
delhi-needs-976-metric-tonnes-of-oxygen-center-increases-quota-delhi-government
देश

दिल्ली को 976 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की जरूरत, केंद्र बढ़ाए कोटा : दिल्ली सरकार

news

नई दिल्ली, 29 अप्रैल (आईएएनएस)। दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने दिल्ली में ऑक्सीजन का कोटा बढ़ाए जाने की मांग केंद्र सरकार के समक्ष रखी है। सिसोदिया ने केंद्रीय उद्योग एवं वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल के समक्ष यह मांग रखते हुए कहा है कि दिल्ली का मौजूदा ऑक्सीजन कोटा 490 मीट्रिक टन प्रतिदिन से बढ़ाकर 976 मीट्रिक टन प्रतिदिन किया जाना चाहिए। दिल्ली सरकार के मुताबिक इस बार जो कोरोना की लहर आई है, यह पहले की तीन लहर से बिल्कुल अलग है। पहले कोविड केयर सेंटर में हजारों लोग होते थे, लेकिन इस बार की लहर में जो भी मरीज आ रहे हैं, उनको ऑक्सीजन की ज्यादा जरूरत पड़ रही है। इसलिए कोविड केयर सेंटर में बहुत कम लोग जा रहे हैं। वहीं दिल्ली के उपराज्यपाल मुख्य सचिव से कोरोना वैक्सीनेशन को लेकर रिपोर्ट मांगी है। इस रिपोर्ट के माध्यम से उपराज्यपाल ने कोरोना वैक्सीनेशन की तैयारियों को लेकर जानकारी देने को कहा है। गौरतलब है कि 1 मई से देशभर में 18 वर्ष से ऊपर के सभी लोगों का वैक्सीनेशन किया जाना है। स्वास्थ्य मंत्री सतेंद्र जैन ने कहा कि सीएम अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व में दिल्ली सरकार का सबसे अधिक ध्यान ऑक्सीजन बेड बढ़ाने पर है। दिल्ली के अंदर बहुत अधिक ऑक्सीजन की मांग बढ़ी है। एकदम से यह मांग बढ़ गई है। दिल्ली के अलग-अलग अस्पतालों में करीब 19 हजार मरीज भर्ती हैं और उन सभी लोगों को ऑक्सीजन चाहिए। इनके अलावा भी बहुत से लोग हैं, जिनको ऑक्सीजन की आवश्यकता है। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि यह राजनीति का समय नहीं है। छह माह पहले भी विपक्ष ने शोर मचाया था, जबकि सब कुछ ठीक था। उन्होंने स्पष्ट करते हुए कहा कि पहली बात तो कोई नहीं चाहेगा कि एक भी मौत हो। दिल्ली में मृत्यु प्रमाण पत्र किसी का न बन रहा हो, तो बताए। सबका मृत्यु प्रमाण पत्र बन रहा है और उस पर लिखा रहता है कि कोरोना से मौत हुई है। दिल्ली के अंदर सब कुछ पारदर्शी है। हम कभी भी कोई बात नहीं छिपाते हैं और न आगे भी छिपाएंगे। स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने केंद्र सरकार द्वारा एलजी को सारी शक्तियां देने के संबंध में कहा कि हम अपना काम करते रहेंगे। जनता के लिए जो भी हमें करना है, वो सभी काम हम करते रहेंगे। दिल्ली के लोगों की भलाई के काम में जो भी अड़चनें आएंगी, हम उसे सकारात्मक लेते हुए काम करेंगे। स्वास्थ्य मंत्री ने शवों को ले जाने वाले वाहनों द्वारा अधिक पैसा वसूलने के सवाल पर कहा कि दिल्ली सरकार जो कैब एंबुलेंस चला रही है, उसमें आज भी कोई दिक्कत नहीं है। कोई भी 102 नंबर डॉयल कर इसकी सेवा ले सकता है। मुझे लगता है कि दिल्ली के अंदर लोगों को इस तरह की समस्या का सामना नहीं करना पड़ रहा होगा। दिल्ली के बाहर जाने वालों को इस तरह की समस्या हो सकती है। इसे भी हम ठीक करेंगे। --आईएएनएस जीसीबी/एएनएम