उत्तराखंड में कोरोना के रिकॉर्ड 6251 नए मामले, 85 की मौत

उत्तराखंड में कोरोना के रिकॉर्ड 6251 नए मामले, 85 की मौत
corona-records-6251-new-cases-in-uttarakhand-85-deaths

-राज्य में 48 हजार से ज्यादा सक्रिय मामले, 3129 मरीज डिस्चार्ज - 42,136 लोगों को लगा कोरोना का टीका, रिकवरी दर में गिरावट देहरादून, 29 अप्रैल (हि.स.)। उत्तराखंड में पिछले 24 घंटे के दौरान गुरुवार को कोरोना के रिकॉर्ड 6251 नए केस सामने आए हैं। राज्य में कुल 85 संक्रमित लोगों की मौत हुई है। संक्रमण को रोकना और मृत्यु के बढ़ते आंकड़े की स्थिति को संभालना सरकार के सामने बड़ी चुनौती है। प्रदेश में 48 हजार से ज्यादा सक्रिय मरीज हैं। आज 3129 मरीज डिस्चार्ज भी हुए हैं। अभी तक कुल एक लाख 74 हजार से ज्यादा लोग कोरोना संक्रमित हो चुके हैं। राज्य में रिकवरी दर में लगातार गिरावट आ रही है। प्रदेश में कोविड से बचाव के लिए 518 बूथों पर 42,136 लोगों को टीका लगाया गया। प्रदेश में अभी तक कुल 1634180 लोगों को पहली डोज और दूसरी डोज के 392546 टीके लगाए जा चुके हैं। स्वास्थ्य विभाग के बुलेटिन के मुताबिक अलग-अलग सरकारी और निजी लैब से कुल 28,346 सैम्पल की जांच रिपोर्ट निगेटिव आई है, जबकि राज्य में साल के सबसे अधिक 6251 कोरोना के मरीज एक दिन में मिले हैं। सबसे ज्यादा देहरादून जिले में 2207 कोरोना संक्रमित मरीज मिले हैं। वहीं हरिद्वार जिले में 1163, नैनीताल में 673, ऊधमसिंह नगर में 827, पौड़ी में 253, टिहरी में 163, रुद्रप्रयाग में 150, पिथौरागढ़ में 33, उत्तरकाशी में 195, अल्मोड़ा में 198, चमोली में 125, बागेश्वर में 107 और चंपावत में 157 संक्रमित मिले हैं। प्रदेश में कुल 85 कोरोना संक्रमित मरीजों की उपचार के दौरान मौत हुई है। अभी तक कुल 2502 कोरोना संक्रमितों की मौत हो चुकी है। 22 अप्रैल से लेकर 29 अप्रैल तक प्रदेश में कुल 539 लोगों ने कोरोना से उपचार के दौरान तम तोड़ा है। राज्य में मृत्यु दर 1.43 फीसदी है। प्रदेश में सक्रिय मरीजों की संख्या 48,318 पहुंच गई है। आज कुल 3129 मरीज स्वस्थ होकर अपने घर गए। सैंपल जांच के आधार पर संक्रमण की औसत दर 4.66 प्रतिशत दर्ज की गई। राज्य से बाहर 3696 (2.11) मरीज स्वस्थ होकर बाहर जा चुके हैं। गुरुवार को 49852 लोगों के सैंपल जांच के लिए लैब भेजे गए हैं। राज्य में अब तक 1,74867 कोरोना संक्रमण के मामले सामने आ चुके हैं। इनमें से 12,0350 मरीज स्वस्थ्य हो चुके हैं। प्रदेश में रिकवरी दर में लगातार गिरावट देखी जा रही है। राज्य में बुधवार को 69.52 प्रतिशत रिकवरी दर थी। गुरुवार को यह घटकर 68.82 हो गई। यह राज्य के लिए चिंता का विषय है। लगातार रिकवरी दर में कमी सरकार से लेकर स्वास्थ्य विभाग के लिए मुसीबत बनी हुई है। राज्य के 10 जिलों में 219 जोखिम जोन देहरादून सहित प्रदेश के 10 जिलों में अब कंटेनमेंट जोन की संख्या 219 पहुंच गई। देहरादून जिले में कुल 52 जोखिम क्षेत्र बन गए हैं। देहरादून में 45, विकासनगर में 3, ऋषिकेश और डोईवाला में एक-एक, कालसी में 2 जोखिम क्षेत्र हैं। हरिद्वार जिले में कुल 9 जोखिम क्षेत्र हैं। इनमें रुड़की में चार और लक्सर और भगवानपुर में 2- 2 और हरिद्वार में एक हैं। नैनीताल जिले में कुल 37 और पौड़ी में 12, उत्तरकाशी में 35 ,उधम सिंह नगर में 43 और चंपावत में 18, चमोली में तीन, टिहरी में नौ, रुद्रप्रयाग में एक जोखिम क्षेत्र हैं। राज्य में 518 बूथों पर कुल 42,136 लोगों को लगा टीका प्रदेश भर के 518 बूथों पर कुल 42,136 लोगों का टीकाकरण किया गया। इनमें से 45-60 साल के आयु के 37,898 लोगों को टीका लगाया गया। वहीं 364 हेल्थ और 3874 फ्रंट लाइन वर्कर ने टीका लगवाया। देहरादून के 109 टीका केन्द्रों पर 45 से 60 साल के आयु वर्ग के 9724 लोगों, हेल्थ वर्कर शून्य जबकि 851 फ्रंट लाइन वर्कर को टीका लगा। प्रदेश में अभी तक कुल 16,34180 लोगों को पहली डोज और दूसरी डोज के 39,2546 लोगों को टीके लगाए जा चुके हैं। हिन्दुस्थान समाचार/राजेश