कोरोना: हिमाचल में 10 दिनों से बिगड़ रहे हालात, 14 फीसदी घटा रिकवरी रेट, पांच जिलों में 1435 केस
कोरोना: हिमाचल में 10 दिनों से बिगड़ रहे हालात, 14 फीसदी घटा रिकवरी रेट, पांच जिलों में 1435 केस
देश

कोरोना: हिमाचल में 10 दिनों से बिगड़ रहे हालात, 14 फीसदी घटा रिकवरी रेट, पांच जिलों में 1435 केस

news

- कोरोना से गई 11 लोगों की जान, सिरमौर का नाहन शहर सबसे ज्यादा प्रभावित उज्जवल शर्मा शिमला, 24 जुलाई (हि.स.)। हिमाचल प्रदेश में कोरोना महामारी तेज़ी से फैल रही है। शासन-प्रशासन की पुरजोर कोशिशों के बावजूद कोरोना वायरस की रफ्तार थमने का नाम नहीं ले रही है। एक समय कोरोना मुक्त बनने से एक कदम दूर रहा यह पहाड़ी राज्य अब कोरोना से निपटने में संघर्ष कर रहा है। राज्य में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 1800 पार कर गया है। शुक्रवार सुबह तक संक्रमण के कुल 1834 मामले दर्ज किए जा चुके हैं। इनमें 1435 मामले पांच जिलों सोलन, कांगड़ा, हमीरपुर, सिरमौर और ऊना से आये हैं। यानी 78 फीसदी संक्रमित मरीज इन्हीं जिलों से हैं। विगत 10 दिनों में कोरोना के मामलों में हुई भारी बढ़ोतरी चिंता पैदा करने वाली है। 10 दिनों में राज्य में कोरोना के 591 नए मामले आ गए। इस दौरान सबसे ज्यादा मामले सोलन के औद्योगिक क्षेत्र बीबीएन तथा नाहन के गोबिंदगढ़ मोहल्ले में पाए गए। फिक्र की बात यह है कि संक्रमण में अप्रत्याशित तेजी से रिकवरी रेट घटा है। विगत 13 जुलाई को जहां मरीजों के स्वस्थ होने का आंकड़ा 75% था, जाे अब घटकर 61.94% पर पहुंच गया है और यह राष्ट्रीय औसत (63.45%) से भी कम है। कोरोना से राज्य में अब तक 11 लोगों की जान गई है। कांगड़ा के 52 वर्षीय संक्रमित मरीज ने आज सुबह दम तोड़ा। सिरमौर का नाहन शहर कोरोना का हॉटस्पॉट बन गया है। यहां 100 से अधिक मामले आ चुके हैं। राजधानी शिमला में भी कोरोना कोहराम मचा रहा है। यहां के बालूगंज बाजार में एक साथ चार सकारात्मक मामले आने से प्रशासन ने इस बाजार को पांच दिन तक बंद रखा। हालात तब और विकट हो गए, जब हिमाचल सचिवालय में मुख्यमंत्री के उपसचिव भी कोरोना से संक्रमित निकले। इसके बाद मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर सहित कई वरिष्ठ अधिकारियों को घरेलू एकांतवास में जाना पड़ा। हालांकि मुख्यमंत्री व उनके परिवार सहित सचिवालय के 56 अधिकारियों की कोरोना रिपोर्ट नकारात्मक पाई गई है। स्वास्थ्य विभाग के विशेष सचिव निपुण जिंदल ने बताया कि पिछले 10 दिन में राज्य में कोरोना के 591 मरीजों की पुष्टि हुई है। प्रदेश में कोरोना के कुल 1834 मामले आ चुके हैं। वर्तमान में रिकवरी रेट 61.94 फीसदी है। निपुण जिंदल ने कहा कि सोलन जिला सर्वाधिक प्रभावित है, जहां 434 सकारात्मक मामले हैं। कांगड़ा में संक्रमण का आंकड़ा 370, हमीरपुर में 288, सिरमौर में 172, उना में 171, शिमला में 121, चंबा में 86, बिलासपुर में 67, मंडी में 60, किन्नौर में 39, कुल्लू में 22 और लाहौल-स्पीति में चार हैं। वहीं सक्रिय मामलों में भी सोलन पहले स्थान पर बना हुआ है। सोलन में सबसे ज्यादा 273 सक्रिय मरीजों का उपचार चल रहा है। सिरमौर में ऐसे मरीजों की तादाद 125, शिमला में 68, कांगड़ा में 63, उना में 43, चंबा में 21, मंडी में 19, बिलासपुर में 17, किन्नौर व कुल्लू में 15-15, हमीरपुर में 12 है। लाहौल-स्पीति कोरोना मुक्त होने वाला एकमात्र जिला है। हिन्दुस्थान समाचार-hindusthansamachar.in