कॉर्बेट और राजाजी टाइगर रिजर्व में तीन साल में 10 फीसदी बढ़े हाथी
कॉर्बेट और राजाजी टाइगर रिजर्व में तीन साल में 10 फीसदी बढ़े हाथी
देश

कॉर्बेट और राजाजी टाइगर रिजर्व में तीन साल में 10 फीसदी बढ़े हाथी

news

- उत्तराखंड में हाथियों की संख्या 2026, मगरमच्छ की 451, घड़ियाल की 77 और ऊदबिलाव की 194 हुई देहरादून, 29 जून (हि.स.)। उत्तराखंड में कॉर्बेट नेशनल पार्क और राजाजी टाइगर रिजर्व में हाथियों की संख्या में अपेक्षित बढ़ोतरी हुई है। इस महीने हुई ताजा गणना के अनुसार राज्य में हाथियों की संख्या बढ़कर अब 2026 हो गई है। उत्तराखण्ड राज्य वन्य जीव सलाहकार बोर्ड की 15वीं बैठक में सोमवार को मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत को विभागीय अधिकारियों ने जानकारी दी कि 6 जून से 8 जून तक तीन दिन उत्तराखण्ड में हाथियों की गणना की गई। इसमें पाया गया कि राज्य में कुल 2026 हाथी हैं। वर्ष 2012 में 1559 जबकि 2017 में 1839 हाथी थे। इस प्रकार वर्ष 2017 से हाथियों की संख्या में 10.17 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। इसी प्रकार 22 से 24 फरवरी 2020 में जलीय जीवों की गणना की गई। इसमें पाया गया कि राज्य में 451 मगरमच्छ, 77 घड़ियाल और 194 ऊदबिलाव हैं। बताया गया कि वर्ष 2020 से 2022 तक राज्य में स्नो-लैपर्ड की जनसंख्या का आंकलन भी किया जाएगा। राज्य के 23 प्रतिशत भौगोलिक क्षेत्र में स्नो-लैपर्ड हैं। बैठक में बताया गया कि कार्बेट टाइगर रिजर्व व राजाजी टाइगर रिजर्व में बाघों और जंगली हाथियों की धारण क्षमता का अध्ययन भारतीय वन्यजीव संस्थान से कराने के लिए प्रस्ताव प्राप्त हो गया है। इसी प्रकार गैण्डे के रिइन्ट्रोडक्शन के लिए साइट सूटेबिलिटी रिपेार्ट मिल गई है। राजाजी राष्ट्रीय उद्यान की सीमा के रैशनलाइजेशन के लिए संबंधित जिलाधिकारियों, प्रभागीय वनाधिकारियों और भारतीय वन्यजीव संस्थान के प्रतिनिधि की एक समिति का गठन कर लिया गया है। हिन्दुस्थान समाचार/दधिबल/सुनीत-hindusthansamachar.in