congress-has-no-development-mission-amit-shah
congress-has-no-development-mission-amit-shah
देश

कांग्रेस के पास विकास का कोई मिशन नहीं : अमित शाह

news

बरपेटा (असम), 04 अप्रैल (हि.स.)। असम विधानसभा चुनाव के तीसरे और अंतिम चरण के मतदान के लिए चुनाव प्रचार करने को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह रविवार को असम पहुंचे थे। चुनाव प्रचार के अंतिम दिन बरपेटा जिला के सरभोग में भाजपा नेतृत्वाधीन गठबंधन उम्मीदवार के समर्थन में एक चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए शाह ने कहा कि कांग्रेस के पास विकास को लेकर कोई मिशन नहीं है। केंद्रीय गृहमंत्री शाह असम में तीन चुनावी जनसभाओं को संबोधित करने के लिए रविवार को पहुंचे थे लेकिन छत्तीसगढ़ में माओवादी हमले में 22 जवानों के शहीद होने की सूचना के बाद अन्य दो चुनावी जनसभाओं को रद्द करते हुए वापस दिल्ली लौट गये हैं। इस हमले में असम का भी एक सपूत शहीद हुआ है। सरभोग के बरपेटा रोड स्टेडियम में आयोजित जनसभा में केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष रंजीत कुमार दास, भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव दिलीप सैकिया के साथ ही भारी संख्या में उपस्थित लोगों को अमित शाह ने संबोधित किया। सरभोग में भाजपा उम्मीदवार शंकर दास के खिलाफ कांग्रेस नेतृत्वाधीन महागठबंधन की ओर से सीपीआईएम उम्मीदवार मनोरंजन तालुकदार चुनाव लड़ रहे हैं। शाह ने कहाकि कांग्रेस के पास विकास का कोई मिशन नहीं है जबकि राहुल गांधी एक पर्यटक के रूप में असम आते हैं और चले जाते हैं। भाजपा ने गुवाहाटी को पूर्वोत्तर की राजधानी बनाने का निर्णय लिया है। इस मौके पर शाह ने बोहाग बिहू की लोगों को शुभकामनाएं दीं। उन्होंने सरभोग के गरखीया गोसाईं थान (मंदिर) को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने का वादा किया। उन्होंने असम के नामघरों को ढाई लाख रुपये का सरकारी अनुदान देने की बात का जिक्र करते हुए सरभोग में अमूल दुग्ध परियोजना स्थापित करने की भी घोषणा की। साथ ही उन्होंने सत्र (मठ) नगरी के रूप में विख्यात बरपेटा की भूमि काे प्रणाम करते हुए इसकी संस्कृति को विकसित करने की बात कही। उन्होंने कहा कि असम विधानसभा चुनाव के पहले और दूसरे चरण के मतदान में भाजपा को बहुमत मिला है। पश्चिम बंगाल से दीदी की विदाई निश्चित है। बंगाल में भाजपा 200 से अधिक सीटें जीतकर सरकार बनाएगी। कहा कि भाजपा सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास के मंत्र पर कार्य करती है। असम को विकास की दिशा में आगे ले जाने का वादा किया। अगले 5 साल में बाढ़ मुक्त असम बनाने का भी वादा किया। उन्होंने कहा कि असम में सर्वानंद सोनोवाल, डॉ हिमंत विश्वशर्मा और रंजीत दास को त्रिमूर्ति कहा जाता है, ये असम को विकास की ओर आगे ले जाएंगे। उन्होंने बंद पड़ी पेपर मिल, फर्टिलाइजर फैक्ट्री को खोलने का वादा किया। अगले 5 साल में 10 लाख लोगों रोजगार देने की भी घोषणा की। गुवाहाटी को पूर्वोत्तर भारत की स्टार्ट अप सिटी के रूप में स्थापित करने का वादा किया है। उन्होंने असम सरकार की ओर से छात्रों को स्कूटी देने का जिक्र करते हुए कहा कि इसके जरिए छात्राओं की शिक्षा को आगे बढ़ाने में मदद मिलेगी। उन्होंने गैंडों की हत्या का जिक्र करते हुए कहा कि असम में अगर कांग्रेस की सरकार होती तो राज्य में एक भी गैंडा नहीं बचता जबकि भाजपा सरकार ने अवैध शिकारियों का खात्मा कर दिया है। सत्र (मठ) की भूमि से अवैध कब्जे को हटाने में भी सरकार ने बेहतरीन कार्य किया है। उन्होंने कहा कि शंकरदेव और माधवदेव के आदर्शों को भाजपा सरकार पूरी जिम्मेदारी के साथ वैश्विक स्तर पर प्रचारित करेगी। उन्होंने लोगों से सवालिया लहजे में कहा, क्या आपको हिंसा की सरकार चाहिए या डबल इंजन की विकास वाली सरकार की जरूरत है। शाह ने कहा, रसोई गैस, बिजली, आवास के साथ ही अब पेयजल भी नल के जरिए घर तक पहुंचाया जाएगा। 2022 तक घर-घर में पाइप के जरिए पानी की आपूर्ति की जाएगी। उन्होंने सरभोग में भाजपा की जीत के लिए जनसभा में उपस्थित प्रत्येक व्यक्ति से घर लौटने के बाद कम से कम 50 लोगों को फोन कर वोट देने का आह्वान किया। हिन्दुस्थान समाचार/ अरविंद/रामानुज