कांग्रेस ने विभाजनकारी नीतियों को प्रोत्साहित किया: सोनोवाल

कांग्रेस ने विभाजनकारी नीतियों को प्रोत्साहित किया: सोनोवाल
congress-encouraged-divisive-policies-sonowal

-सीएम सोनोवाल ने पांच चुनावी जनसभाओं को किया संबोधित गुवाहाटी, 01 अप्रैल (हि.स.)। मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल विधानसभा चुनावों के मद्देनजर तीसरे चरण के मतदान के लिए भाजपा उम्मीदवारों के समर्थन में जमकर चुनाव प्रचार कर रहे हैं। इस कड़ी में गुरुवार को उन्होंने निचले असम के बरपेटा, पूर्वी ग्वालपाड़ा, बोको, छयगांव और पश्चिम गुवाहाटी निर्वाचन क्षेत्रों में पांच चुनावी रैलियों को संबोधित किया। बरपेटा विधानसभा क्षेत्र के लिए भाजपा गठबंधन के उम्मीदवार गुनिंद्रनाथ दास के समर्थन में आयोजित चुनावी रैली में शामिल मुख्यमंत्री सोनोवाल ने कहा कि भाजपा के नेतृत्व वाली गठबंधन सरकार जब से सत्ता में आई है, राज्य के सभी वर्गों के लोगों को समान विकास, समान प्रतिष्ठा और समान गरिमा प्रदान करने का काम कर रही है। गुरुवार को बरपेटा विधानसभा क्षेत्र में रैली को संबोधित करते हुए सोनोवाल ने कहा कि भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार हिंदू, मुस्लिम, ईसाई, जैन और बुद्ध धर्मों से जुड़े सभी लोगों को पर्याप्त सुरक्षा प्रदान करने का काम कर रही है ताकि उनका समान विकास सुनिश्चित किया जा सके । कोई भी सरकारी योजनाओं से वंचित नहीं है। धर्म या पंथ के बिना किसी भेदभाव के प्रदेश के सभी क्षेत्रों में तमाम सरकारी योजनाएं लागू की गईं। सोनोवाल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के सबका साथ, सबका साथ और सबका विश्वास के सार्वभौमिक नीति का पालन करते हुए भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार राज्य के सभी 34 जिलों में रह रहे राज्य के सभी वर्गों के लोगों के कल्याण को प्रोत्साहित करने का काम कर रही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के शासनकाल में पार्टी ने निचले असम के क्षेत्रों को विकास से वंचित रखा। हालांकि, सत्ता में आने के तुरंत बाद भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार ने निचले असम के विकास के लिए विशेष कदम उठाए। उनकी सरकार ने निचले असम के जिलों के ढांचागत विकास के लिए पहल की। उन्होंने कहा कि भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार ने जोगीघोपा में मल्टी मॉडल लॉजिस्टिक पार्क की नींव रखने के अलावा धुबरी मेडिकल कॉलेज, ब्रह्मपुत्र नद पर एशिया के सबसे लंबे धुबरी-फूलबाड़ी पुल के लिए भी काम शुरू किया गया है। उन्होंने कहा, अल्पसंख्यक समुदाय से संबंधित लड़कियों के अकादमिक विकास के लिए भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार ने अल्पसंख्यक बहुल क्षेत्रों में गर्ल्स कॉलेज की स्थापना की। सोनोवाल ने कहा कि भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार की धार्मिक अल्पसंख्यकों के लोगों के विकास की तीव्र इच्छा के कारण सरकार ने अल्पसंख्यक बहुल क्षेत्रों में 21 आवासीय स्कूलों की स्थापना की। उन्होंने कहा कि भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार ने अल्पसंख्यक क्षेत्रों से जुड़े लोगों को भूमि का पट्टा आवंटित करने के लिए चार क्षेत्रों में सर्वेक्षण किया। कांग्रेस की विभाजनकारी नीतियों के खिलाफ भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार ने सभी वर्गों के लोगों को एकजुट किया और राज्य में दोस्ती और सौहार्द के बंधन को मजबूत किया। सोनोवाल ने यह भी कहा कि मुख्यमंत्री के रूप में उन्होंने अपने सामाजिक-आर्थिक और शैक्षिक विकास में तेजी लाने के लिए कई बार धुबरी, दक्षिण सलमारा, मानकाचार का दौरा किया। हालांकि, कांग्रेस अपने मुख्यमंत्री को इन स्थानों का दौरा करने में सक्षम बनाने में इतनी दरियादिली कभी नहीं दिखा सकी। सोनोवाल ने कहा कि इस तरह के दौरों के दौरान उन्होंने स्वयं अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों से बातचीत की, उनकी समस्याओं को महसूस किया और उनके कल्याण के लिए कदम उठाए। उन्होंने कहा कि भाजपा शासन के दौरान धार्मिक अल्पसंख्यक समुदाय हमेशा सुरक्षित महसूस करते हैं। उन्हें किसी असुविधाओं का शिकार नहीं होना पड़ा। कांग्रेस ने मतभेदों को बढ़ावा दिया, हालांकि भाजपा ने सद्भाव की वकालत की। उन्होंने दोहराया कि जब तक भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार सत्ता में रहेगी, तब तक अल्पसंख्यक सहित सभी वर्ग के लोगों का भविष्य सुरक्षित रहेगा। बरपेटा के अलावा सोनोवाल ने भाजपा और उसके सहयोगियों के उम्मीदवारों के लिए पूर्वी ग्वालपाड़ा, बोको, छयगांव और पश्चिम गुवाहाटी निर्वाचन क्षेत्रों में भी चुनावी रैलियों को भी संबोधित किया। हिन्दुस्थान समाचार/ अरविंद