बंगाल में हिंसा पर कांग्रेस-माकपा ने भी जताई चिंता, कहा जनता ने इस अराजकता के लिए नहीं दिया वोट

बंगाल में हिंसा पर  कांग्रेस-माकपा ने भी जताई  चिंता, कहा जनता ने इस अराजकता के लिए नहीं दिया वोट
congress-cpi-m-also-expressed-concern-over-violence-in-bengal-saying-people-did-not-vote-for-this-chaos

कोलकाता, 04 मई (हि.स.)। पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव के परिणाम आने के बाद से जारी हिंसा पर माकपा और कांग्रेस ने भी चिंता जताते हुए कार्रवाई की मांग की है। माकपा महासचिव सीताराम येचुरी ने ट्विट किया, ‘क्या बंगाल में हिंसा की रिपोर्ट, इनके विजय का उत्सव है? यह निंदनीय है। इसका विरोध होना चाहिए। कोरोना संक्रमण का मुकाबला करने के बजाए टीएमसी इन कामों में लिप्त है। माकपा हमेशा लोगों की मदद करने के लिए मौजूद है।’ कांग्रेस नेता जितिन प्रसाद ने ट्वीट किया, “चुनाव के बाद टीएमसी द्वारा कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर हो रही हिंसा अस्वीकार्य है। बच्चे और महिलाओं को भी नहीं छोड़ा जा रहा है। मैं निश्चित हूं कि बंगाल के लोगों ने इस अराजकता के लिए वोट नहीं किया है।” उल्लेखनीय है चुनाव परिणाम के बाद हो रही हिंसा की पूरे देश में निंदा हो रही है। सोमवार को व्यापक पैमाने पर हिंसा देखने को मिली जिसमें कथित तौर पर झड़प और दुकानों को लूटे जाने के दौरान कई भाजपा कार्यलयों में तोड़फोड़ और कार्यकर्ताओं की मौत हो गई तो कई घायल हो गए। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने राज्य सरकार से विपक्षी कार्यकर्ताओं पर हमले की घटना में तथ्यात्मक रिपोर्ट मांगी है। हिन्दुस्थान समाचार / ओम प्रकाश/सुगंधी