congress-believes-in-divisive-policies-sonowal
congress-believes-in-divisive-policies-sonowal
देश

कांग्रेस विभाजनकारी नीतियों में करती विश्वास: सोनोवाल

news

-सोनोवाल ने नाज़िरा, लाहोवाल और सदिया में चुनावी रैलियों को किया संबोधित गुवाहाटी, 21 मार्च (हि.स.)। मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने रविवार को असम विधानसभा चुनाव के मद्देनजर नाज़िरा, लाहोवाल और सदिया में तीन चुनावी रैलियों को संबोधित करते हुए भाजपा उम्मीदवारों को जिताने का आह्वान किया। सोनोवाल ने भाजपा उम्मीदवार मयूर बरगोहाईं के पक्ष में नाज़िरा में आयोजित चुनावी रैली में कहा कि भाजपा उम्मीदवार ने समर्पण के साथ अपने चुनावी वादों को पूरा किया है। उन्होंने कहा कि भाजपा विकास, सद्भाव और विश्वास का पर्याय है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सार्वभौमिक नीति पर असम में शांति के लिए भाजपा सरकार प्रतिबद्ध है। हर किसी को अपने साथ में लेते हुए भाजपा की अगुवाई वाली राज्य सरकार अपने पांच साल के कार्यकाल को पूरा करने में सक्षम रही है। उन्होंने कहा कि स्वर्गदेव चाउलुंग चुकापा के सिद्धांतों का पालन करते हुए भाजपा सरकार एक सौहार्दपूर्ण और महान असम की परंपरा को मजबूत करने के लिए लगातार काम करती रही है। उन्होंने कहा, सभी जाति, पंथ, समुदाय और जातीयता से संबंधित सभी महान लोगों को पर्याप्त सम्मान देते हुए भाजपा नेतृत्व वाली सरकार ने राज्य की महान हस्तियों के नाम पर पुरस्कारों की शुरुआत की। परिणामस्वरूप, सभी समुदायों के लोगों ने अपनेपन और सम्मान को महसूस किया। सोनोवाल ने कहा कि भाजपा सरकार के तहत सभी वर्ग के लोग सुरक्षित हैं। इस दौरान कांग्रेस पर निशाना साधते हुए सोनोवाल ने कहा कि अपने 60 साल के शासन के दौरान कांग्रेस ने लोगों के बीच विभाजन पैदा किया। कांग्रेस विभाजनकारी नीति में विश्वास करती थी। समाज में विभाजन पैदा करना और लोगों को विकसित नहीं होने देना कांग्रेस का एजेंडा रहा है। दूसरी ओर भाजपा समान विकास में विश्वास करती है क्योंकि भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार ने लोगों की छिपी क्षमता को पनपने के अवसर पैदा करने के लिए अथक प्रयास किया। नतीजतन, सभी को विकसित करने के लिए आत्मानीभर असम का वातावरण बनाया है। राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए सोनोवाल ने कहा कि पिछले 60 वर्षों में कांग्रेस ने चाय समुदाय से जुड़े लोगों के सामाजिक-आर्थिक और शैक्षणिक विकास के लिए कुछ भी नहीं किया। हालांकि, भाजपा सरकार ने चाय बागानों के विकास के लिए पूरा प्रयास किया है। चाय बागानों के इलाकों में अस्पताल, स्कूलों, पक्की सड़कें आदि के लिए ढांचागत विकास कर भाजपा सरकार ने चाय बागानों के लोगों की स्थितियों में सुधार लाने के लिए पूरी कोशिश की। सोनोवाल ने कहा कि कांग्रेस के गलत वादों, झूठे वादों के परिणामस्वरूप असम के लोगों को इस चुनाव में उन्हें अच्छा सबक सिखाना चाहिए। उन्होंने कहा, नाजिरा के वर्तमान विधायक को पर्याप्त अवसर मिलने के बावजूद, निर्वाचन क्षेत्र में कोई महत्वपूर्ण बदलाव नहीं ला सके। उन्होंने कहा कि नाज़िरा एक महत्वपूर्ण निर्वाचन क्षेत्र है जहां ओएनजीसी के असम एसेट का मुख्यालय स्थित है। यदि इस निर्वाचन क्षेत्र का विधायक कार्यशील है, तो लोगों को बहुत लाभ मिलता है। इसलिए, उन्होंने नाजिरा निर्वाचन क्षेत्र के मतदाताओं से भाजपा के उम्मीदवार मयूर बरगोहाईं के पक्ष में अपना बहुमूल्य वोट देने का आह्वान किया। सोनोवाल ने कांग्रेस और एआईयूडीएफ के अपवित्र गठबंधन की भी आलोचना की। उन्होंने कहा कि दोनों दलों ने असम में अवैध प्रवासियों को लाया और राज्य की प्राचीन व मजबूत संस्कृति और जनसांख्यिकी ढांचे को खंडित किया। उन्होंने असम आंदोलन के दौरान 860 शहीदों की मृत्यु के लिए इन दोनों दलों को जिम्मेदार ठहराया। सोनोवाल ने यह भी कहा कि दूसरी ओर भाजपा राज्य के स्थानीय लोगों के हितों की रक्षा के लिए काम कर रही है। पिछले पांच वर्षों में भाजपा की अगुवाई वाली सरकार ने राज्य के भूमिहीन लाखों स्थानीय लोगों को भूमि का पट्टा प्रदान किए हैं। उन्होंने कहा कि नामघरों, सत्रों, धार्मिक स्थलों को वित्तीय अनुदान देना राज्य के स्थानीय लोगों के विकास के लिए भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार की प्रतिबद्धता है। उन्होंने कहा कि भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार सभी वर्गों के लोगों के सर्वांगीण विकास के लिए प्रतिबद्ध है, क्योंकि पार्टी राज्य के लोगों के हित के खिलाफ कुछ भी करने से बचती है। इससे पहले, सोनोवाल ने दो रैलियों में भाग लिया। सादिया और लाहोवाल में भाजपा उम्मीदवारों के पक्ष में जनता को संबोधित किया। हिन्दुस्थान समाचार/अरविंद