मुख्यमंत्री डॉ. हिमंत ने प्रधानमंत्री से की ओएनजीसी की संपदा ऑयल को हस्तांतरित करने की मांग

मुख्यमंत्री डॉ. हिमंत ने प्रधानमंत्री से की ओएनजीसी की संपदा ऑयल को हस्तांतरित करने की मांग
chief-minister-dr-himanta-urged-the-prime-minister-to-transfer-the-assets-of-ongc-to-oil

गुवाहाटी, 24 जून (हि.स.)। मुख्यमंत्री डॉ हिमंत बिस्व सरमा ने असम के लोगों की आकांक्षा के अनुरूप ऑयल एंड नेचुरल गैस कॉरपोरेशन (ओएनजीसी) की संपत्तियां ऑयल इंडिया लिमिटेड को हस्तांतरित करने की मांग प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से की है। उल्लेखनीय है कि असम सरकार ऑयल इंडिया लिमिटेड में लगातार अपना शेयर बढ़ा रही है। प्रतिबंधित उग्रवादी संगठन उल्फा समेत विभिन्न स्थानीय संगठनों द्वारा लगातार ओएनजीसी से विभिन्न प्रकार की मांग की जाती रही है। हाल ही में उल्फा ने ओएनजीसी से इन तेल कंपनियों में शत-प्रतिशत असम के लोगों की नियुक्ति करने की मांग की थी। इन तमाम पहलुओं को ध्यान में रखते हुए मुख्यमंत्री डॉ. हिमंत ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को बीते पांच जून को एक पत्र लिखा था। हालांकि, इस पत्र के बारे में मीडिया को जानकारी नहीं दी गई थी। इस पत्र में मुख्यमंत्री ने लिखा था कि ऑयल इंडिया लिमिटेड पूर्वोत्तर क्षेत्र में गतिविधि चलाने वाली कंपनी है। इस कंपनी में 90 फीसद कर्मचारी पूर्वोत्तर क्षेत्र के हैं। दूसरी ओर यहां के लोग इस कंपनी को लेकर काफी संजीदा हैं। लोगों की आकांक्षाएं इससे जुड़ी हुई हैं। उन्होंने कहा कि ओएनजीसी की संपदा ऑयल इंडिया लिमिटेड को सौंपने में केंद्र सरकार को किसी भी प्रकार की बाधा नहीं है। डॉ. सरमा ने प्रधानमंत्री को लिखे पत्र में यह भी कहा कि ऐसा करके सही मायने में केंद्र सरकार के एक्ट ईस्ट पॉलिसी को लागू किया जा सकता है। अपने पत्र में मुख्यमंत्री ने ऑयल इंडिया लिमिटेड की उत्पादन क्षमता में बढ़ोतरी करने तथा असम सरकार के इसमें शेयर में इजाफे की भी चर्चा की है। हिन्दुस्थान समाचार / श्रीप्रकाश/ अरविंद

अन्य खबरें

No stories found.