छत्तीसगढ़ :भिलाई की सविता फिर एक बार फतह करेंगी हिमालय की दुर्गम चोटियां

छत्तीसगढ़ :भिलाई की सविता फिर एक बार फतह करेंगी हिमालय की दुर्गम चोटियां
chhattisgarh-savita-of-bhilai-will-once-again-conquer-the-inaccessible-peaks-of-the-himalayas

भिलाईनगर 8 मार्च(हि. स.)। 50 पार की पर्वतारोही महिलाएं फिर एक बार अपने बुलंद हौसलों के साथ हिमालय की चोटियों को फतह करने निकल रही हैं। टीम की ज्यादातर महिलाएं पहले भी हिमालय अभियान का हिस्सा रही हैं। इनमें भिलाई की सविता धपवाल भी शामिल हैं, जिन्होंने पद्मश्री बछेंद्री पाल के साथ 1993 में दुनिया की सबसे ऊंची चोटी माउंट एवरेस्ट फतह की थी। सविता वर्तमान में भिलाई स्टील प्लांट के शिक्षा विभाग में पदस्थ हैं। उनके पति हुकुम सिंह धपवाल भिलाई स्टील प्लांट में जनरल मैनेजर हैं। एवरेस्ट फतह करने वालीं पहली भारतीय महिला बछेंद्री पाल के नेतृत्व में ये टीम मई में पूर्वी से दक्षिण हिमालय पर पांच महीने के लंबे अभियान पर निकलेगी। तालपुरी निवासी सविता धपवाल ने बताया कि अरुणाचल प्रदेश से मई के पहले हफ्ते में उनका यह अभियान शुरू होगा और 4,500 किलोमीटर का सफर करेगा, जिसमें 40 पर्वतीय दर्रे पार करेगा, इनमें बेहद मुश्किल माना जाने वाला 17, 320 फीट ऊंचा लमखागा दर्रा भी शामिल है। फिट इंडिया अभियान के तहत कार्यक्रम का आयोजन टाटा स्टील खेल एवं युवा मंत्रालय के साथ मिलकर कर रहा है। उन्होंने बताया कि यह अभियान मूल रूप से 50 पार की महिलाओं को अपनी सेहत व फिटनेस के प्रति जागरुक रखने के इरादे से शुरू किया गया है। उन्होंने बताया कि टीम अरूणाचल प्रदेश के बोमडिला में मिस्टी पर्वत से अपना सफर शुरू करेगी, इसके बाद भूटान प्रवेश करेगी। यहां से पर्वतारोहण अभियान सिक्किम होते हुए गुजरेगा, जिसमें चितरे, काला पोखारी और संदक फू भी शामिल हैं। यहां से टीम नेपाल प्रवेश करेगी। जिसमें धौलागिरी दर्रे के रास्ते सालपा पास, लामजुरा पास से गुजरते हुए अन्नपूर्णा मासिफ के 17 हजार 769 फीट ऊंचे थोरांग ला को पार करेगा। नेपाल और हिमाचल प्रदेश की चोटियों से होते हुए यह अभियान अक्टूबर के दूसरे हफ्ते में लेह लद्दाख में पूरा होगा। जिसमें टीम 18 हजार 380 फीट ऊंचे खारदुंगला, 17 हजार 869 फीट ऊंचे सासेर ला, 17 हजार 869 फीट ऊंचे देप्सांग ला से होते हुए 18 हजार 175 फीट ऊंचे काराकोरम पास पहुंचेंगी। टीम में जमशेदपुर से पद्मश्री बछेंद्री पाल (67) के साथ भिलाई से सविता धपवाल (52), कोलकाता से चेतना साहू (54), मैसूर से शामला पद्मनाभन (64), बड़ोदा से गंगोत्री सोनेजी (62), पालनपुर से चौला जागीरदार (63), जमशेदपुर से पायो मुरमु (53), बीकानेर से डा. सुषमा बिस्सा (55), लखनऊ से मेजर कृष्णा दुबे (59), नागपुर से बिम्बा देउसकर (55) होंगे। वहीं उत्तराखंड से सहायक स्टाफ के तौर पर मोहन रावत (41), अमला रावत (47) और रणदेव सिंह (30) इस टीम का साथ देंगे। हिन्दुस्थान समाचार/अभय जवादे

अन्य खबरें

No stories found.