Chhattisgarh: 3 families had to leave village after Naxalite decree in Sukma, got ultimatum for one week
Chhattisgarh: 3 families had to leave village after Naxalite decree in Sukma, got ultimatum for one week
देश

छत्तीसगढ़ : सुकमा में नक्सली फरमान के बाद 3 परिवारों को छोड़ना पड़ा गाँव, एक सप्ताह का मिला था अल्टीमेटम

news

सुकमा, 9 जनवरी(हि. स.) । छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में नक्सलियों के द्वारा बड़े केडवाल में रह रहे 3 परिवार को गांव छोड़ने का फरमान सुना दिया। जिसके बाद यह परिवार तत्काल गांव से छोड़ कर परिजनों के पास पहुंचकर शरण ली। वही एक परिवार के सदस्य की बीते नवंबर माह में पुलिस मुखबिरी के आरोप में हत्या कर दी। बलराम की हत्या जन अदालत में माता-पिता एवं पत्नी के सामने ही हत्या कर दी। जिसके बाद से यह परिवार सदमे में है। पीड़ित परिवारों ने बताया कि 17 नवंबर 2020 को पोडियामी बलराम की हत्या माओवादी के द्वारा जन अदालत लगाकर कर दी गई थी ,जिसके बाद परिवार को गांव से छोड़कर जाने के लिए कह दिया। परिजनों ने बताया ही बलराम गाय चराने के लिए गया हुआ था इस दौरान उसने नक्सली उठाकर ले गए नक्सलियों के द्वारा परिजनों एवं आसपास के गांव के लोगों को सूचना दी और जन अदालत लगाया गया। जन अदालत में बलराम को पुलिस मुखबिरी का आरोप लगाया गया और उसकी हत्या करने की सजा सुना दी ।उसकी गला रेतकर हत्या कर दी। बलराम के माता-पिता इस घटना का जिक्र करते हुए आंखें आंखें दर्द से भरी हुई एवं उस मंजर का डर साफ देखने को मिला। गांव छोड़ चुके परिवार ने बताया कि इस इलाके में अक्सर लोगों पर मुखबिरी एवं किसी ना किसी तरह का आरोप लगाकर नक्सली मारपीट करते आ रहे हैं । अब तक कई परिवार गांव छोड़कर जा चुके हैं जिसमें से कई लोगों को रातों-रात ही गांव छोड़कर भागने पर मजबूर होना पड़ा है। वहीं अगर किसी को गांव से बाहर भी जाना पड़े तो इसके लिए वह नक्सलियों से अनुमति लेना पड़ता है। एक सप्ताह में गांव खाली करने का दिया था अल्टीमेटम- पीड़ित परिवार ने बताया कि नक्सलियों के द्वारा उन्हें गांव छोड़ने के लिए 1 सप्ताह का अल्टीमेटम दिया था। वहीं पिछले शनिवार को नक्सलियों द्वारा उन्हें गांव छोड़ने के लिए शुक्रवार तक का वक्त दिया था, जिस पर पीड़ित परिवारों ने गुरुवार को 5 ट्रैक्टर लेकर गए और शुक्रवार को सामान लादकर वापस अपने परिजन के यहाँ पहुँचे है। उसमे से दो परिवार उड़ीसा के बटनवाडा गए। एक परिवार कुड़केल में है। सुकमा एसपी केएल ध्रुव ने बताया कि बड़ेकेडवाल के 3 परिवारों को नक्सलियों ने गांव से भगा दिया है। जानकारी मिली है, जिसमें से एक परिवार के सदस्य की बीते माह नवम्बर में नक्सलियों ने हत्या कर दी गई थी। हिन्दुस्थान समाचार/मोहन ठाकुर-hindusthansamachar.in