caa-under-update-conspiracy-misconduct-on-agriculture-law-pm
caa-under-update-conspiracy-misconduct-on-agriculture-law-pm
देश

अपडेट-षड़यंत्र के तहत सीएए, कृषि कानून पर हो रहा दुष्प्रचार : प्रधानमंत्री

news

नई दिल्ली, 06 अप्रैल (हि.स.)। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मंगलवार को कहा कि भारतीय जनता पार्टी की साफ नीयत और स्पष्ट नीतियों के चलते जनता को आज जमीनी स्तर पर बदलाव दिखाई दे रहे हैं। साथ ही उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं को आगाह किया कि सरकार के खिलाफ सोची-समझी रणनीति के तहत कुछ संगठन और व्यक्ति दुष्प्रचार कर रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को भारतीय जनता पार्टी के स्थापना दिवस पर पार्टी कार्यकर्ताओं को वर्चुअल माध्यम से संबोधित करते हुए कहा कि आज सोची समझी रणनीति के तहत सरकार के फैसलों के खिलाफ दुष्प्रचार किया जा रहा है। नागरिकता संशोधन कानून (सीएए), कृषि सुधार कानून, मजदूर संहिता जैसे कई विषयो पर नकारात्मक प्रचार किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इसका मकसद देश में राजनीतिक अस्थिरता पैदा कर करना है जिसके लिए कभी संविधान बदलने व आरक्षण समाप्त करने जैसे झूठे आरोपों का सहारा लिया जा रहा है। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी को विनिंग मशीन कहना गलत होगा असल में भारतीय जनता पार्टी लोगों के दिल जीतने की मशीन है। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने बड़ी घोषणाओं के आधार पर किसी सरकार के होने वाले आंकलन के दृष्टिकोण को आज पलट कर रख दिया है और अब अंत्योदय के आधार पर सरकार की उपलब्धियां आंकी जा रही हैं। मोदी ने कहा कि गांधीजी कहते थे कि सरकार की निर्णय और योजनाएं ऐसी होनी चाहिए कि समाज के अंतिम पंक्ति में खड़े व्यक्ति को भी उसका लाभ मिले। भारतीय जनता पार्टी उनकी मूल भावना को चरितार्थ करने का अथक प्रयास कर रही है। अपने उद्बोधन से प्रधानमंत्री ने युवा, किसानों और महिलाओं के जीवन में उनकी सरकार की ओर से चलाई जा रही योजनाओं से आ रहे परिवर्तन का विशेष उल्लेख किया। उन्होंने कहा कि उन्हीं की सरकार ने पहली बार देश के छोटे किसानों को और उनकी समस्याओं को संबोधित करने की कोशिश की है। इस दौरान उन्होंने एक बार फिर नए कृषि कानूनों को छोटे किसानों के लिए लाभकारी बताया। प्रधानमंत्री ने अपने भाषण की शुरुआत पार्टी के वरिष्ठ व दिवंगत नेताओं को श्रद्धांजलि देते हुए की। उन्होंने डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी, पंडित दीनदयाल उपाध्याय, अटल बिहारी वाजपेई, कुशाभाऊ ठाकरे और राजमाता सिंधिया को याद किया। इस दौरान प्रधानमंत्री ने कश्मीर से धारा 370 हटाने सहित सरकार की प्रमुख योजनाओं और नीतिगत फैसलों का उल्लेख किया। प्रधानमंत्री ने पार्टी कार्यकर्ताओं के प्रयासों की और पार्टी को विश्व की सबसे बड़ी पार्टी बनाने के लिए उनके योगदान की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि करोना के अभूतपूर्व संकट के दौरान पार्टी कार्यकर्ताओं ने सेवा ही संगठन का संकल्प लिया और काम किया। मोदी ने कार्यकर्ताओं को सभी के साथ सम्मान पूर्ण व्यवहार की शिक्षा दी और कहा कि हमारे संस्कार राजनीतिक छुआछूत पर विश्वास नहीं रखते। यही कारण है कि भाजपा सरदार पटेल को समर्पित ‘स्टैचू ऑफ यूनिटी’ पर गर्व करती है और बाबा साहब के पंचतीर्थ का निर्माण भी गर्व से कर रही है। भाजपा नेता ने पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा कि सत्ता में मिली सफलता के साथ ही हमें विनम्र और सरल होना सीखना चाहिए। हर सफलता के साथ नए संकल्प की शुरुआत करते हुए देश के लिए कुछ करने के बारे में सोचना चाहिए। प्रधानमंत्री मोदी ने पार्टी कार्यकर्ताओं की वैचारिक प्रतिबद्धता की भी प्रशंसा की और कहा कि केरल और पश्चिम बंगाल जैसे राज्यों में कार्यकर्ताओं को धमकी देने और हमले होने के बावजूद भी कार्यकर्ता अपनी सोच पर अडिग रहते हैं और डटे रहते हैं। हिन्दुस्थान समाचार/अनूप/अजीत