budget-realizing-the-dreams-of-self-reliant-bihar-and-general-public-nityanand-rai
budget-realizing-the-dreams-of-self-reliant-bihar-and-general-public-nityanand-rai
देश

आत्मनिर्भर बिहार और आम जनता के सपनों को साकार करने वाला बजटः नित्यानंद राय

news

पटना, 22 फरवरी (हि.स.)। केंद्रीय गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय ने बिहार बजट को आत्मनिर्भर बिहार के सपने को साकार करने वाला बताया है। साथ ही बिहार की आम जनता के आर्थिक स्वावलंबन की दिशा में एक बेहतरीन बजट पेश करने के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उपमुख्यमंत्री सह वित्तमंत्री तारकिशोर प्रसाद को बधाई दी। केंद्रीय गृह राज्यमंत्री राय ने सोमवार को कहा कि वर्ष 2020-2025 में सरकारी और गैर सरकारी क्षेत्र में रोजगार के 20 लाख से ज्यादा नये अवसर सृजित किए जाएंगे। इसके लिए उद्योग विभाग के वित्तीय वर्ष 2021- 22 में 200 करोड़ रुपये के व्यय का उपबंध किया गया है। नया उद्यम अथवा व्यवसाय के लिए परियोजना लागत का 50 प्रतिशत, अधिकतम 5 लाख रुपये तक का अनुदान दिया जाएगा तथा अधिकतम 5 लाख का जाएगा। हर जिले में कम से कम एक मेगा स्किल सेंटर खोला जाएगा। उन्होंने कहा कि भारत के प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी और राज्य के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में कोविड-19 से सफलतापूर्वक संघर्ष करते हुए हम बाहर निकले हैं। कोविड के बाद से पूरे दौर में देश और बिहार की अर्थव्यवस्था का जिस बेहतरी से संचालन किया गया है वह दुनिया में एक मिसाल से कम नहीं है। यह बजट संतुलित है और सभी वर्गों के हित को ध्यान में रखकर बनाया गया है। वर्ष 2005 से अब तक राज्य की अर्थव्यवस्था में विकास दर डबल डिजिट में रही है। उसे यह बजट और गति देकर बिहार के विकास का नया मानदंड स्थापित करेगा। उन्होंने बिहार बजट की चर्चा करते हुए कहा कि लॉकडाउन के कारण समस्याग्रस्त आम आदमी, उद्योग एवं व्यापार, किसान, श्रमिक एवं पशुधन आदि प्रक्षेत्रों को सहायता देने के लिए भारत सरकार द्वारा तीन चरणों में करीब 27.10 लाख करोड़ के आत्मनिर्भर भारत पैकेज की घोषणा की गयी थी। कोरोना लॉकडाउन के कारण आर्थिक कठिनाई का सामना कर रहे गरीब लोगों को डीबीटी के माध्यम से 1.64 करोड़ राशनकार्डधारी के खाते में 1000 रुपये प्रति कार्डधारी अंतरित किया गया। इस मद में 1600 करोड़ रुपये से अधिक का भुगतान किया गया। हिन्दुस्थान समाचार/राजीव/रामानुज