बुद्ध की धरती के प्रो. विनय कराएंगे श्रीराम मंदिर शिलान्यास पूजन
बुद्ध की धरती के प्रो. विनय कराएंगे श्रीराम मंदिर शिलान्यास पूजन
देश

बुद्ध की धरती के प्रो. विनय कराएंगे श्रीराम मंदिर शिलान्यास पूजन

news

- काशी हिन्दू विश्वविद्यालय में चल रही हैं तैयारियां, शुभ मुहूर्त गोपनीय, तीन घण्टे चलेगा पूजन कुशीनगर, 24 जुलाई (हि.स.)। 05 अगस्त को अयोध्या में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों होने वाले श्रीराम मंदिर शिलान्यास पूजन कार्य भगवान बुद्ध की नगरी कुशीनगर के प्रो. विनय कुमार पांडेय सम्पन्न कराएंगे। काशी हिन्दू विश्वविद्यालय में प्रो. विनय की अगुवाई वाला तीन सदस्यीय आचार्य दल पूजन कार्य की तैयारियों में जुटा है। आचार्य दल में प्रो.रामचन्द्र पांडेय व प्रो. रामनरायन द्विवेदी शामिल हैं। शुभ मुहूर्त का समय गोपनीय बताते हुए विनय ने बताया कि पूजन कार्यक्रम कुल तीन घण्टे तक निर्वाध चलेगा। विनय को मिले ऐतिहासिक महत्व के इस दायित्व से गांव में हर्ष का माहौल है। परिवार के सदस्य खुशी से फुले नहीं समा रहे। कुशीनगर जिले के पड़रौना ब्लाक के विशुनपुरा गांव में किसान रामदेव पांडेय के घर 20 नवम्बर 1979 को जन्मे विनय चार भाईयों में जेठे हैं। विनय की प्रारम्भिक शिक्षा गांव के शासकीय प्राथमिक विद्यालय में हुई है। पूर्व माध्यमिक की शिक्षा कठकुइया के सरस्वती शिशु मंदिर में प्राप्त करने के बाद हाईस्कूल व इंटरमीडियट की परीक्षा गोरक्षनाथ संस्कृत विद्यालय गोरखपुर में हुई। उच्च अध्ययन के लिए बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय में दाखिला लिया। वर्तमान में विश्वविद्यालय के ज्योतिषशास्त्र विभाग के विभागाध्यक्ष हैं। साथ ही काशी विद्वत परिषद के संगठन मंत्री भी है। संस्कृत, हिंदी, अंग्रेजी पर समान रूप से अधिकार रखने वाले विनय की ज्योतिष, वास्तु व कर्मकांड पर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर 14 व राष्ट्रीय स्तर पर 40 शोध पत्र व सात पुस्तकें प्रकाशित चुकी हैं। पूर्व में भी विनय प्रधानमंत्री के महत्वपूर्ण अनुष्ठान पूजन के कार्यक्रमों में शरीक होते रहे हैं। काशी हिन्दू विश्वविद्यालय वाराणसी के ज्योतिषशास्त्र विभाग के विभागाध्यक्ष प्रो. विनय कुमार पाण्डेय ने बताया कि श्रीराम की अनुकम्पा से मिला यह दायित्व रामजन्मभूमि राष्ट्रीय नहीं बल्कि अंतरराष्ट्रीय महत्व का विषय है। भगवान राम सनातन संस्कृति के आराध्य हैं। उनकी जन्मभूमि अयोध्या सनातन संस्कृति की धरोहर है। जन्मभूमि पर श्रीराम मंदिर की स्थापना के पूर्व प्रधानमंत्री जी के हाथों शिलान्यास पूजन कर लौकिक परलौकिक जीवन धन्य हो जाएगा। मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम की अनुकम्पा से यह सौभाग्य मिल रहा है। हिन्दुस्थान समाचार/गोपाल/राजेश/सुनीत-hindusthansamachar.in