पुराने हैदराबाद में धूमधाम से मनाया गया बोनालू

 पुराने हैदराबाद में धूमधाम से मनाया गया बोनालू
bonalu-celebrated-with-pomp-in-old-hyderabad

हैदराबाद, 1 अगस्त (आईएएनएस)। तेलंगाना की अनूठी संस्कृति का प्रतीक बोनालू रविवार को पुराने शहर हैदराबाद में पारंपरिक उत्साह और उल्लास के साथ मनाया गया। लाल दरवाजा में श्री सिंहवाहिनी महाकाली मंदिर, हरिबावली में श्री अक्कन्ना मदन्ना महाकाली मंदिर और पुराने शहर के अन्य महाकाली मंदिरों में बड़ी संख्या में भक्तों की भीड़ उमड़ी। मुख्य समारोह लाल दरवाजा मंदिर में आयोजित किया गया था जहां बंदोबस्ती मंत्री इंद्रकरण रेड्डी और पशुपालन मंत्री टी. श्रीनिवास यादव ने राज्य सरकार की ओर से देवता को बंगारू बोनम और रेशम के वस्त्र भेंट किए। इस अवसर पर बोलते हुए श्रीनिवास यादव ने कहा कि अन्य राज्यों के श्रद्धालु भी बोनालू समारोह में भाग ले रहे हैं। उन्होंने कहा कि पहली बार राज्य सरकार ने बोनालू के अवसर पर निजी मंदिरों को धन मुहैया कराया है। पहले दानदाता निजी मंदिरों को पैसा दे रहे थे लेकिन अब सरकार उनकी मदद के लिए आगे आई है। गृह मंत्री महमूद अली, हरियाणा के राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय, तेलंगाना प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष ए रेवंत रेड्डी, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष बंदी संजय, दिग्गज अभिनेता और भाजपा नेता विजयशांति और विभिन्न राजनीतिक दलों के नेताओं ने उत्सव में भाग लिया। महिलाओं समेत हजारों श्रद्धालुओं ने पूजा अर्चना की। श्रद्धालुओं की आवाजाही को सुगम बनाने के लिए प्रशासन ने व्यापक इंतजाम किए हैं। महिलाओं के लिए विशेष कतारों की व्यवस्था की गई थी, जो देवी को प्रसाद चढ़ाने के लिए अपने सिर पर बर्तन लिए हुए देखी गई। इस वर्ष उत्सव का आयोजन सामूहिक समारोहों और पारंपरिक जुलूस के साथ किया जा रहा है। आयोजकों को मास्क पहनने और सोशल डिस्टेंसिंग सहित कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया है। आषाढ़ बोनालू हिंदू कैलेंडर के अनुसार आषाढ़ के महीने में आयोजित एक त्योहार है, जो देवी महाकाली का उत्सव है। भक्त, विशेष रूप से महिलाएं,सजाए गए बर्तनों में देवी महाकाली को भोजन के रूप में प्रसाद चढ़ाती हैं। यह उत्सव लगभग एक महीने चलता है, जिसमें जुलूस और सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। --आईएएनएस आरएचए/आरजेएस

अन्य खबरें

No stories found.