blackout-in-191-villages-of-saurashtra-even-after-14-days-of-toute-storm
blackout-in-191-villages-of-saurashtra-even-after-14-days-of-toute-storm
देश

ताउते तूफान के 14 दिन बाद भी सौराष्ट्र के 191 गांवों में ब्लैकआउट

news

ऊना/अहमदाबाद, 01 जून (हि.स.)। सौराष्ट्र में ताउते तूफान के 14 दिन बाद भी 191 गांवों में बिजली गुल है।इन गांवों के ग्रामीण बाइक की बैटरी से या आसपास के गांवों में जाकर मोबाइल चार्ज कर रहे हैं। ग्रामीणों का कहना है कि डीसी चार्जर के प्लस व माइनस प्वाइंट को बाइक की बैटरी से जोड़कर मोबाइल को चार्ज किया जा सकता है। कुछ गांवों में ज्योति ग्राम योजना अंतर्गत बिजली आपूर्ति शुरू की गई है लेकिन खेती के लिए बिजली आने में अभी वक्त लग सकता है। पीजीवीसीएल ने 31 मई को जारी एक रिपोर्ट में कहा है कि सौराष्ट्र के 191 गांवों में अभी भी बिजली गुल है। ऊना, गिर-गढ़डा, जाफराबाद और सौराष्ट्र की अन्य तहसीलों में 14 दिनों से लोग बिजली के बिना रह रहे हैं।कोटडासांगानी के रामोद और वादीपारा गांवों के किसानों में भारी आक्रोश देखा जा रहा है क्योंकि तूफान के दौरान गिरे बिजली के खंभे खड़ा करके बिजली आपूर्ति शुरू करने का काम धीमी गति से चल रहा है। ग्रामीणों का कहना है कि ऊना के बड़े गांव के लोगों के लिए पीने के पानी की सबसे बड़ी समस्या है। इसके अलावा खाना पकाने और कपड़े धोने सहित विभिन्न कार्यों के लिए कुओं और तालाबों से पानी लाने के लिए लंबी दूरी तय करनी पड़ती है। पुरुष भी महिलाओं की मदद करते हैं। जाफराबाद के धरबंदर गांव में कई लोगों के सिर पर छत नहीं है क्योंकि उनके कच्चे मकान तूफान में गिरकर नष्ट हो चुके हैं। संगठनों ने गांव में जरूरतमंदों को राशन किट और खाने के पैकेट भी भेजे हैं। हिन्दुस्थान समाचार/हर्ष शाह/सुनीत