भाजपा की सामाजिक मुद्दों के जरिए जनता से जुड़े रहने की मुहिम

 भाजपा की सामाजिक मुद्दों के जरिए जनता से जुड़े रहने की मुहिम
bjp39s-campaign-to-stay-connected-with-the-public-through-social-issues

भोपाल 4 जुलाई (आईएएनएस)। मध्य प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी आमजन से जुड़ने के लिए सामाजिक मुद्दों को खास अहमियत दे रही है। यही कारण है कि पर्यावरण से लेकर जल संरक्षण और कोरोना संक्रमण के प्रभावित लोगों की मदद के मामले में भाजपा लगातार सक्रिय है। भाजपा की सत्ता में वापसी हुए लगभग सवा साल का वक्त गुजर गया है और इस दौरान कोरोना महामारी की पहली और दूसरी लहर ने सरकार के सामने बड़ी चुनौतियां पेश की है। दूसरी लहर के दौरान तो स्वास्थ्य सेवाओं की खामियों ने सरकार को कटघरे में खड़ा करने का काम किया। राज्य के जनसामान्य के बीच कोरोना, महंगाई, बेरोजगारी जैसे मुद्दे प्रभावी न हो पाए इसके लिए संगठन जमीनी स्तर पर तेजी से काम करने में लग गया है और इसके लिए वृक्षारोपण, जल संरक्षण, कोरोना प्रभावतो की मदद के लिए संगठन खास प्रयास कर रहा है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा ने बीते दिनों कटनी, पन्ना, सतना और छतरपुर का दौरा किया तो यह बात साफ नजर भी आई। इस प्रवास के दौरान उनका खास जोर कोरोना पीड़ितों की मदद, वृक्षारोपण और जल संरचनाओं की संरक्षण पर रहा। उनकी ओर से लगातार पार्टी के निचले स्तर के कार्यकतार्ओं को भी समाज की जरूरतों के मुताबिक काम करने के लगातार निर्देश दिए जा रहे हैं और पार्टी उस दिशा में बढ़ भी रही है। भाजपा प्रदेषाध्यक्ष शर्मा जहां एक ओर संगठन को मजबूत करने, सरकार की छवि को बनाए रखने के लिए प्रयासरत है तो उनके विरोधी दल कांग्रेस पर हमले तेज हो रहे है। उनका कहना है कि कांग्रेस और विपक्षी दल न तो एक पेड़ लगाते हैं, और न ही गरीब की सहायता करते है। बस उनके पास तो एक काम है और वह है सोशल मीडिया पर पोस्ट डालने का। राजनीति के जानकारों का कहना है कि संगठन को सक्रिय रखने के लिए नेतृत्व का भी सक्रिय होना जरूरी है यह बात मध्यप्रदेश में नजर भी आती है। इन दिनों कई मसलों के चलते राज्य और केंद्र की सरकार की छवि पर असर पड़ रहा है। ऐसे में जनता के बीच संगठन ही सक्रिय रहकर सरकारों की छवि को बचाए रख सकता है । यह बात मध्यप्रदेश का संगठन बेहतर तरीके से समझ रहा है। यही कारण है कि संगठन की सक्रियता बहुत ज्यादा नजर आती है। --आईएएनएस एसएनपी/आरजेएस

अन्य खबरें

No stories found.