bjp-excited-by-public-support-in-west-bengal
bjp-excited-by-public-support-in-west-bengal
देश

पश्चिम बंगाल में मिल रहे जनसमर्थन से भाजपा उत्साहित

news

नई दिल्ली, 21 फरवरी (हि.स.)। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पदाधिकारियों की बैठक में आगामी पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव और उनकी तैयारियों पर चर्चा की गई। बैठक में पश्चिम बंगाल में भाजपा को मिल रहे जनसमर्थन से उम्मीद जताई गई है कि विधानसभा चुनाव में नतीजे उसके पक्ष में रहेंगे। इसके साथ असम में दोबारा सत्ता वापसी सुनिश्चित करने के लिए पार्टी नेताओं को ज्यादा मेहनत करने पर जोर दिया गया। भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ रमन सिंह ने एनडीएमसी कंवेंशन सेंटर में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में बैठक का ब्यौरा देते हुए कहा कि कृषि प्रस्ताव पर चर्चा की गई। सिंह ने कहा कि आने वाले समय में पांच राज्यों पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु, असम, केरल, पुडुचेरी में चुनाव होने हैं। इस बार पश्चिम बंगाल की जनता का अपार समर्थन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा को मिल रहा है। साथ ही असम में भी पार्टी दोबारा सत्ता में वापसी करेगी। उन्होंने कहा कि बैठक में तमिलनाडु और केरल में संगठन की मजबूती पर संतोष जताया गया और पुडुचेरी में विकल्प के रुप में भाजपा उभर कर आई है। सिंह ने कहा कि बैठक में हुई चर्चा के बारे में बताते हुए कहा कि कोरोना महामारी के दौरान भारत के सामने सबसे बड़ी चुनौती इस संकट से निपटने की थी, क्योंकि 130 करोड़ की आबादी वाले देश में हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर मजबूत नहीं था। प्रधानमंत्री मोदी ने कोरोना की चुनौती से बखूबी निपटते हुए भारत को दुनिया के सामने एक मिसाल पेश की। कोरोना काल में सेवा के संकल्प में संगठन को गतिशील करने का काम माननीय प्रधानमंत्री मोदी ने किया। इसके साथ भाजपा ने सेवा भाव, संतुलन, संयम, समन्वय, सकारात्मक, सद्भाव और संवाद के मंत्र के साथ सेवा ही संगठन कार्यक्रम से 22 करोड़ से अधिक लोगों को खाने की व्यवस्था की। भारत में दो-दो कोरोना वैक्सीन बनाने में सफलता हासिल करने के लिए वैज्ञानिकों का आभार जताया गया। डॉ सिंह ने कहा कि आज दुनिया के 17 देशों को भारत वैक्सीन भेज रहा है। भारत ने एक करोड़ कोरोना टीकाकरण का लक्ष्य मात्र 34 दिन में पूरा किया है, जबकि यूके ने 56 दिनों में एक करोड़ टीकाकरण किया है। भाजपा उपाध्यक्ष ने कहा कि पिछले एक वर्ष में कृषि कल्याण, कृषि सुधार और किसानों के हित में मोदी सरकार ने तीन कानूनों के माध्यम से बड़े फैसले लिए। किसानों को उनकी उपज का वाजिब मूल्य मिले, आय दोगुनी हो, किसान अपनी उपज कहीं भी बेचने सके ऐसी स्वतंत्रता इन कानूनों में मिली है। बैठक में तय हुआ कि कानूनों के बारे में किसानों को विस्तार से अवगत कराया जाए और किसानों को इससे होने वाले फायदे बताएं जाएं। हिन्दुस्थान समाचार/अजीत