बिहार: पाबंदी हटी तो श्रद्धालु भी पहुंचे भगवान के द्वार, मंदिरों में लौटी रौनक

 बिहार: पाबंदी हटी तो श्रद्धालु भी पहुंचे भगवान के द्वार, मंदिरों में लौटी रौनक
bihar-if-the-ban-is-lifted-the-devotees-also-reached-the-door-of-god-the-temple-returned-to-the-glory

पटना, 26 अगस्त (आईएएनएस)। बिहार में कोरोना की रफ्तार थमने के बाद सरकार ने धार्मिक स्थलों पर पाबंदी हटा दी। सरकार द्वारा पाबंदियों में छूट मिलने के बाद गुरुवार को मंदिर के पट आम श्रद्धालुओं के लिए खोल दिए गए हैं। धार्मिक स्थलों के खुलने के बाद बड़ी संख्या में श्रद्धालु मंदिर पहुंचने लगे। पटना का प्रसिद्ध महावीर मंदिर, मुजफ्फरपुर का गरीबनाथ मंदिर, सोनपुर का हरिहर नाथ मंदिर, गया के विभिन्न मंदिरों सहित राज्य के सभी धार्मिक स्थलों में सुबह से ही श्रद्धालु पहुंचने लगे और अपने इष्टदेव की पूजा अर्चना की। पांबदी हटने के बाद श्रद्धालुओं में उत्साह देखा गया, जिससे मंदिरों में चहल पहल भी बढ गई है। राज्य के कई क्षेत्रों में हो रही बारिश के बावजूद श्रद्धालुओं में उत्साह कम नहीं हुआ। इस क्रम में हालांकि कोरोना की संभावित तीसरी लहर को लेकर मंदिरों में एहतियात भी बरते जा रहे हैं। मुजफ्फरपुर के गरीबनाथ मंदिर के प्रधान पुजारी पंडित विनय पाठक ने पाबंदी हटाने पर सरकार धन्यवाद देते हुए कहा कि मंदिर खुलने से यहां के पुजारी से लेकर भक्तों के बीच उमंग का माहौल है। पिछले दो साल से कोरोना के कारण मंदिर के द्वारा आम लोगों के लिए अधिकांश समय बंद ही रहे, जिससे मंदिर के कोषागार पर भी असर पड़ा है। मंदिर के महंत पंडित अभिषेक पाठक ने बताया कि सुबह में विधि विधान के साथ बाबा की पूजा-आरती और महाश्रृंगार करने के बाद मंदिर का पट आम श्रद्धालुओं के लिए खोला गया। उन्होंने बताया कि करीब चार महीने बाद आम भक्तों के लिए मंदिर के पट खोले गए तो विशेष पूजा की गई। इधर, मंदिरों के आसपास फूल-माला और प्रसाद की दुकान लगाने वाले दुकानदारों के चेहरे पर भी रौनक लौट आई है। दुकानदारों का कहना है कोरोना के कारण बड़ी आर्थिक क्षति हुई है। न भक्त आ रहे थे और न बिक्री हो रही है। कई दुकानदार तो कर्ज के बोझ तले दबे गए हैं। वैसे, दुकानदारों में एक आस भी जगी है कि अब फिर से कोरोना का दौर नहीं आएगा। उल्लेखनीय है कि राज्य में कोरोना संक्रमण के कम होते मामले के बाद सरकार ने पाबंदियों में और ढील का फैसला लिया है। बुधवार को क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने स्वयं पाबंदी हटाने की घोषणा करते हुए कहा कि संक्रमण की स्थिति में हो रहे लगातार सुधार को देखते हुए सरकार ने राज्य के सभी व्यवसायिक प्रतिष्ठान, धार्मिक स्थल, पार्क सामान्य रूप से खोलने का निर्णय लिए हैं। --आईएएनएस एमएनपी/आरजेएस

अन्य खबरें

No stories found.