bengal-governor-agrees-to-administer-oath-to-mamata-on-7-october
bengal-governor-agrees-to-administer-oath-to-mamata-on-7-october
देश

बंगाल के राज्यपाल ने ममता को 7 अक्टूबर को शपथ दिलाने पर सहमति दी

news

कोलकाता, 5 अक्टूबर (आईएएनएस)। काफी विवाद के बाद पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने हाल ही में हुए उपचुनाव में जीतीं मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और दो अन्य विधायकों का शपथ ग्रहण समारोह सात अक्टूबर को विधानसभा में आयोजित करने की सहमति दे दी है। धनखड़ ने ट्वीट किया, पश्चिम बंगाल के राज्यपाल श्री जगदीप धनखड़ 7 अक्टूबर, 2021 को दोपहर 2 बजे पश्चिम बंगाल विधान सभा के परिसर में डब्ल्यूबीएलए, अर्थात ममता बनर्जी, जाकिर होसैन और अमीरुल इस्लाम के निर्वाचित सदस्यों को शपथ दिलाएंगे। तृणमूल कांग्रेस के एक वरिष्ठ मंत्री ने कहा, पहले यह तय किया गया था कि शपथ ग्रहण समारोह सुबह 11.45 बजे होगा, लेकिन बाद में यह तय किया गया कि समारोह दोपहर 2 बजे होगा, तदनुसार, राज्यपाल को सूचित किया गया और उन्होंने उस पर सहमति व्यक्त की। मुख्यमंत्री के शपथ ग्रहण समारोह ने उस समय विवाद खड़ा कर दिया, जब धनखड़ ने विधानसभा अध्यक्ष बिमान बनर्जी को पत्र लिखकर कहा कि विधानसभा और सरकार के स्तर पर अभ्यास और कार्यवाही स्पष्ट रूप से कानून की गलत धारणा से निकली है, इसे अटकलों पर छोड़ दिया गया है कि क्या राज्यपाल राज्य सरकार के अनुरोध के अनुसार शपथ ग्रहण समारोह के लिए विधानसभा में जाएंगे। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने 7 अक्टूबर को विधानसभा में शपथ लेने की इच्छा व्यक्त की थी। 1 अक्टूबर को विधानसभा अध्यक्ष ने राज्यपाल को पत्र लिखकर उन्हें नवनिर्वाचित सदस्यों के शपथ ग्रहण समारोह के लिए विधानसभा में आने के लिए कहा था। विधानसभा के सदस्यों के शपथ ग्रहण का संचालन करने वाले अध्यक्ष को राज्यपाल को पत्र इसलिए लिखना पड़ा, क्योंकि धनखड़ ने सितंबर के मध्य में विधानमंडल के सदस्यों को पद की शपथ दिलाने का विधानसभा अध्यक्ष बिमान बनर्जी का अधिकार वापस ले लिया था। संविधान के अनुच्छेद 188 के तहत विधानसभा अध्यक्ष को नए विधायकों को पद की शपथ दिलाने की शक्ति मिली हुई है। अधिकारियों ने कहा कि यह पहली बार है, जब किसी राज्यपाल ने अध्यक्ष को सौंपी गई शक्ति वापस ले ली है, जिससे तनाव बढ़ गया है। हालांकि, विधानसभा अध्यक्ष ने इस मुद्दे पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया। संसदीय कार्य मंत्री पार्थ चटर्जी ने कहा, हमने राज्यपाल से सात अक्टूबर को दोपहर से पहले सीएम और दो अन्य विधायकों के शपथ ग्रहण के लिए विधानसभा में आने का अनुरोध किया है। हम चाहते थे कि शपथ ग्रहण विधानसभा में हो, इसलिए हमने राज्यपाल को अनुरोध भेजा था। उम्मीद है कि राज्यपाल विधानसभा में आएंगे। --आईएएनएस एसजीके