बंगाल : आकाशीय बिजली गिरने से मरने वालों की संख्या बढ़कर 27 हुई

बंगाल : आकाशीय बिजली गिरने से मरने वालों की संख्या बढ़कर 27 हुई
bengal-death-toll-rises-to-27-due-to-lightning

कोलकाता, 08 जून (हि.स.)। पश्चिम बंगाल में सोमवार को लगातार बारिश के साथ आंधी तूफान के बीच आकाशीय बिजली गिरने से मरने वालों की संख्या बढ़कर 27 हो गई है। मौसम विभाग के अनुसार अभी पांच दिन तक इसी तरह से पानी बरसेगा और आकाशीय बिजली भी गिर सकती है। राज्य आपदा प्रबंधन विभाग की ओर से बताया गया है कि अकेले हुगली जिले में 11 लोगों की मौत हुई है, जबकि मुर्शिदाबाद में नौ, पूर्व और पश्चिम मेदनीपुर में चार तथा बांकुड़ा में दो लोगों की मौत आकाशीय बिजली गिरने से हुई है। हुगली में मरने वालों की पहचान हेमंत गुचैत (43), मालविका गुचैत (28), शिशिर अधिकारी (67), कानाई लाहौरी (78), किरण रॉय (27), हारुन राशिद (39), दिलीप घोष (50) और सुष्मिता कोले (38), संजीव सामंत, सेल मलिक व आनंद रॉय (35) के रूप में हुई है। मुर्शिदाबाद जिले में जिन लोगों की मौत हुई है, उनकी पहचान एनामुल शेख (48), सैनुल इस्लाम (25), सुनील दास (35), दुर्योधन दास (35), सूर्य कर्मकार (23), जलालुद्दीन शेख (26), अभिजीत विश्वास (45), प्रहलाद मुरारी (32) और मराजुल शेख (18) के रूप में हुई है। पूर्व मेदिनीपुर में मरने वालों के नाम शंपा मंडल (25) और गौरंगा मांझी (24) हैं। पश्चिम मिदनापुर में मरने वालों के नाम अरुण मंडल (44) और अर्चना रॉय (41) बताया गया है। बांकुड़ा में वासुदेव महतो (40) और कृष्णपद हांसदा (63) की आंधी के दौरान हुई है। इस दुखद घटना पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह भी दुख व्यक्त कर चुके हैं। प्रधानमंत्री कार्यालय ने प्रत्येक मृतक के परिवार को दो लाख रुपये और घायलों को 50-50 हजार रुपये देने की घोषणा की है। जानकारी मिली है कि तृणमूल सांसद अभिषेक बनर्जी बुधवार और गुरुवार को आकाशीय बिजली से मरने वालों के परिवारजनों से मिलकर संवेदना व्यक्त करेंगे। मौसम विभाग ने आशंका व्यक्त की है कि आगामी पांच दिन तक लगातार इसी तरह से बारिश होती रहेगी। बिजली चमकने से साथ वज्रपात भी हो सकता है। हिन्दुस्थान समाचार / ओम प्रकाश