चमोली में अतिवृष्टि से बदरीनाथ हाइवे पांच से अधिक स्थानों पर बाधित, गौशाला ध्वस्त मवेशी दबे
चमोली में अतिवृष्टि से बदरीनाथ हाइवे पांच से अधिक स्थानों पर बाधित, गौशाला ध्वस्त मवेशी दबे
देश

चमोली में अतिवृष्टि से बदरीनाथ हाइवे पांच से अधिक स्थानों पर बाधित, गौशाला ध्वस्त मवेशी दबे

news

जगदीश पोखरियाल गोपेश्वर, 29 जुलाई (हि.स.)। चमोली जिले में मंगलवार की रात्रि से हो रही मुसलाधार बारिश के चलते कई स्थानों पर हुई भूस्खलन व पहाड़ी से मलबे के कारण बदरीनाथ हाइवे पांच से अधिक स्थानों पर बाधित हो गया है। जिला मुख्यालय गोपेश्वर के निकटवर्ती गांव सिरोखोमा में एक गौशाला के क्षतिग्रस्त हो जाने से पांच मवेशियों की दबने की सूचना मिली है। इधर पीपलकोटी क्षेत्र में मठ व बेमरू मे भारी वर्षा के कारण हो रहे भूस्खलन से ग्रामीणों की काश्तकारी की भूमि नष्ट हो गई है। आपदा परिचालन केंद्र से मिली जानकारी के अनुसार मंगलवार रात्रि से जिले में हो रही मूसलाधार वर्षा के कारण बदरीनाथ हाइवे पागलनाला, गुलाबकोटी (हेलंग), कोडिया (पीपलकोटी), भनेरपानी , बाजपुर (चमोली) में मलबा आने से अवरुद्ध हो गया है। सिरोखामा में कमला देवी की गौशाला क्षतिग्रस्त होने से पांच मवेशी दबे होने की सूचना है। जानकारी मिलते ही एसडीआरएफ व आपदा प्रबंधन की टीम मौके के लिए रवाना हो गई है। इधर दशोली ब्लाॅक के बैमरू के प्रधान पंकज कुमार व मठ झडेता के प्रधान संजय राणा ने बताया कि मंगलवार की रात्रि से हो रही वर्षा के कारण मठ झडेता, बैमरू, गुनियाला, कुलसारी तोक में ऊपरी व निचले क्षेत्र से हो रहे भूस्खलन के कारण जहां गांव को खतरा बना हुआ ही है वहीं काश्तकारी की भूमि भी नष्ट हो गई है। उन्होंने कहा कि भारी वर्षा व भूस्खलन के कारण लोगों डरे व सहमे हुए हैं। हिन्दुस्थान समाचार-hindusthansamachar.in