अयोध्या: रामलला की पोशाक पर सस्पेंस बरकरार, भूमि पूजन वाले दिन हरा पहनेंगे या भगवा?
अयोध्या: रामलला की पोशाक पर सस्पेंस बरकरार, भूमि पूजन वाले दिन हरा पहनेंगे या भगवा?
देश

अयोध्या: रामलला की पोशाक पर सस्पेंस बरकरार, भूमि पूजन वाले दिन हरा पहनेंगे या भगवा?

news

अयोध्या: राम मंदिर निर्माण शुरू होने का लंबा इंतजार अब खत्म होने वाला है. 5 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भूमि पूजन करेंगे. इस आयोजन को लेकर एक तरफ जहां राम नगरी को दुल्हन की तरह सजाया जा रहा है तो वहीं दूसरी रामलला के पोशाक को लेकर बहस छिड़ गई है. 5 अगस्त को बुधवार है और इस दिन पहले से तय नियमों के अनुसार रामलला को हरे रंग की पोशाक पहनाई जाती है, पर कहा जा रहा है कि इस बार भगवा रंग की पोशाक भी बनावाई जा रही है. हालांकि उन्हें किस रंग की पोशाक पहनाई जाएगी इसको लेकर अभी संस्पेंस बरकरार है. इससे पहले कभी भी रामलला की पोशाक में भगवा रंग के कपड़े शामिल नहीं थे. इस मामले पर रामलला विराजमान के पुजारी महंत सत्येंद्र दास ने कहा कि इस को लेकर बात हो गई है, समस्या का समाधान कर दिया गया है. भूमि पूजन के खास मौके पर रामलला के लिए बहुत खास वस्त्र तैयार किये जा रहे हैं. पर एक बात तो तय है कि भूमिपूजन के दिन रामलला विशेष वस्त्रों में नजर आएंगे. हर दिन बदलता है रामलला की पोशाक का रंग रामलला को हर दिन अलग-अलग रंग के कपड़े पहनाए जाते हैं. सोमवार को सफेद, मंगलवार को लाल, बुधवार को हरे, गुरुवार को पीले, शुक्रवार को क्रीम, शनिवार को नीले और रविवार को गुलाबी रंग के वस्त्र धारण कराए जाते हैं. रामलला की पोशाक पर विशेष गोटा लगाने और नवरत्न भी जड़े होंगे वस्त्र तैयार करने वाले दर्जी भगवत प्रसाद ने बताया कि भव्य आयोजन के दिन रामलला ऐसे वस्त्रों में नज़र आएंगे जिसमे उन्हें देखकर कोई भी मंत्रमुग्ध हो जाएगा. रामलला बहुत ही कोमल हैं इसीलिए चारों भाइयों के लिए मखमली कपड़े के वस्त्र बनाये जा रहे हैं. ऐसे ही वस्त्र में हनुमान जी भी नज़र आएंगे. इन वस्त्रों पर विशेष गोटा लगाने के साथ ही नवरत्न भी जड़े होंगे. इन पर कढ़ाई भी होगी. इसी कपड़े से रामलला का बिछौना और पर्दा भी तैयार किया जा रहा है. वस्त्र तैयार करने का काम कई दिन से चल रहा है और एक अगस्त तक ये वस्त्र तैयार कर लिए जाएंगे. भक्तों के दर्शन के लिए अलग रखे जा सकते हैं बाद में ये खास वस्त्र भगवत प्रसाद के छोटे भाई शंकरलाल ने बताया कि संभव है इस दिन रामलला को जो वस्त्र पहनाए जाएंगे उनको बाद में भक्तों के दर्शन के लिए अलग रखा जाएगा. ऐसा इसलिए क्यों कि वो ऐतिहासिक दिन और पल होगा. सालों से जिस राम मंदिर का सबको इंतज़ार है, उसका भूमिपूजन होगा. हालांकि अभी इसकी आधिकारिक रूप से जानकारी नहीं दी गयी है. 4 पीढ़ियों से सिर्फ रामलला के वस्त्र बना रहा है भगवत प्रसाद का परिवार इन वस्त्रों को तैयार करने का काम कर रहे भगवत प्रसाद और उनके छोटे भाई शंकर लाल के साथ परिवार के अन्य सदस्य भी इसमे लगे हैं. ये बाबू लाल टेलर का परिवार है. वही परिवार जो पिछली चार पीढ़ियों से रामलला के लिए पोशाक बनाने का काम करता है. भगवत और शंकरलाल कहते हैं कि चार पीढ़ियों से सिर्फ रामलला, ठाकुर जी और संतो के लिए ही वस्त्र बना रहे हैं. इसके अलावा कोई काम कभी सीखा भी नहीं. मशीन चलानी आती है लेकिन अपने कपड़े दूसरों से सिलवाते हैं. यह परिवार भी राम मंदिर के शिलान्यास कार्यक्रम और प्रधानमंत्री के आगमन को लेकर खासा उत्साहित है.-newsindialive.in